श्रीनगर: जम्मू कश्मीर पुलिस ने मारे गए एक आतंकवादी की मां और कुलगाम में सक्रिय एक आतंकवादी की बहन को आतंकवादियों की भर्ती करने में उनकी कथित संलिप्तता के लिए गिफ्तार किया है. अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी. Also Read - Prime Minister Special Scholarship Scheme 2020: प्रधानमंत्री विशेष छात्रवृत्ति योजना के लिए पंजीकरण शुरू, जानें सभी डिटेल्स

एक अधिकारी ने बताया,‘‘आतंकवादी अब्बास शेख की बहन और मारे जा चुके आतकंवादी तौसीफ की मां नसीमा बानो को गैरकानूनी गतिविधि (निरोधक) अधिनियम के तहत 20 जून को गिरफ्तार किया गया था.’’ कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने बताया कि महिला (बानो) युवाओं को आतंकवादी रैंक में भर्ती करने में शामिल थी. Also Read - कश्मीर: कोरोना पॉजिटिव थे कुलगाम मुठभेड़ में मारे गए हिज्बुल के दोनों आतंकी

एक अन्य अधिकारी ने बताया, ‘‘ गिरफ्तार की गई महिला की एक तस्वीर जिसमें वह अपने बेटे के साथ एक स्वचालित हथियार चला रही है, अपने आप सब कुछ कह देती है. उस वक्त उसका बेटा सक्रिय आतंकवादी था.’’ जम्मू कश्मीर पुलिस ने उन आलोचनाओं को खारिज किया कि वह आतंकवादियों के परिजन को बिना सबूत के निशाना बना रही है. उन्होंने कहा कि कानून के प्रावधानों के अनुरूप गिरफ्तारियां की गई हैं. Also Read - जम्मू-कश्मीर: कुलगाम में हुई मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने मार गिराए दो आतंकवादी, जवान घायल

कश्मीर जोन पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया,‘‘जम्मू कश्मीर पुलिस बिना सबूत के आतंकवादियों के परिवार को निशाना नहीं बनाती. सक्रिय आतंकवादी अब्बास शेख की बहन और मारे जा चुके आतंकवादी तौसीफ की मां नसीमा बानो को युवाओं को आंतकवादी रैंक में भर्ती करने में हालिया संलिप्तता के कारण 20 जून 2020 को गिरफ्तार किया गया.’’