नई दिल्ली: मदर डेयरी (Mother Dairy) अब तक राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में 23.90 रुपये प्रति किलोग्राम की सब्सिडी वाली दर से पांच हजार टन प्याज (Onion) बेच चुकी है. कंपनी की योजना आने वाले समय में आपूर्ति बढ़ाने की है ताकि उपभोक्ताओं को प्याज खरीदने के लिये लंबी कतारों में नहीं खड़ा होना पड़ा. कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने इसकी जानकारी दी. दिल्ली सरकार की योजना के बाद दिल्ली में प्याज पर सब्सिडी दी जा रही है. दिल्ली सरकार ने ये सस्ते प्याज को बेंचने का आदेश एक दिन पहले ही दिया था. Also Read - Mother dairy: अगर आप मथुरा के 'पेड़े' खाने के हैं शौकीन तो न हों परेशान, जल्द ही मदर डेयरी के आउटलेट में खरीद सकेंगे 'पेड़े'

Also Read - Weather Update: दिल्ली में आज से बढ़ेगी ठंड, इस दिन फिर बारिश होने का अनुमान

कीमत क्या बढ़ी, चोरों का निशाना बन गई प्याज, गोदाम से चुराईं 300 बोरियां, सदमे में व्यापारी Also Read - सरकार ने प्याज निर्यात से प्रतिबंध हटाया, एक जनवरी 2021 से हो सकेगा निर्यात

दिल्ली समेत देश के कई इलाकों में प्याज की कीमतें 60 से 80 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई हैं. केंद्र सरकार ने इसे देखते हुए उपभोक्ताओं को राहत देने के लिये सुरक्षित भंडार से 50 हजार टन प्याज बाजार में उतारने का निर्णय लिया है. दिल्ली में मदर डेयरी, नाफेड और एनसीसीएफ सब्सिडी पर प्याज की बिक्री कर रही हैं. मदर डेयरी के प्रबंध निदेशक संग्राम चौधरी ने कहा, ‘‘हम अपने सफल स्टोरों के बाहर प्याज खरीदने वाले उपभोक्ताओं की लंबी कतारों से चिंतित हैं. हम आने वाले दिनों में मात्रा और बढ़ाएंगे.’’ उन्होंने कहा कि प्याज की कीमतों में यह तेजी तात्कालिक है तथा जब नवंबर से खरीफ फसलों की आवक शुरू होगी तब धीरे-धीरे इसमें नरमी आने लगेगी. देश में प्याज की कोई कमी नहीं है. चौधरी ने कहा कि मदर डेयरी अब तक सब्सिडी पर पांच हजार टन प्याज बेच चुकी है. केंद्र सरकार की ओर से ये प्याज नाफेड के भंडार से लिये गये.

उन्होंने कहा, ‘‘यह काफी बड़ी मात्रा है. हम बाजार को स्थिर और संतुलित बनाना चाह रहे हैं. हम इसे न मुनाफा,न घाटा के हिसाब से बेच रहे हैं. हमने अपने सफल बूथों के जरिये बाजार को संतुलित बनाने में हमेशा सरकार की मदद की है और आगे भी ऐसा करते रहेंगे.’’ मदर डेयरी के सफल कारोबार को देखने वाले एक अधिकारी ने कहा कि हमने 20 टन प्याज रोजाना बेचकर शुरुआत की और अब हर दिन 150 से 200 टन प्याज बेचे जा रहे हैं. ज्यादातर माल नासिक का है.