खंडवा। अविश्वास प्रस्ताव के दौरान लोकसभा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गले मिलने वाली घटना पर सियासी बयानबाजी का दौर जारी है. इसे लेकर आज मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री विजय शाह ने अजब-गजब बयान दिया. अपने बयान में उन्होंने राहुल को पप्पू भी बताया. विजय शाह ने दावा किया कि पिछले दिनों सदन में राहुल ने जब प्रधानमंत्री से उठने का आग्रह किया तो मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष को इशारों में कहा था- काहे उठो, तुम्हारे पिताजी ने बैठाया है क्या?

बीजेपी मंत्री ने उड़ाई खिल्ली 

खंडवा जिले में कल एक कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए शाह ने मोदी सरकार के खिलाफ 20 जुलाई को विपक्ष द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान लोकसभा में राहुल की प्रधानमंत्री को दी गई ‘झप्पी’ पर कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा, उनके (कांग्रेस) नेता खड़े हो गए, राहुल भैया. पप्पू (राहुल) भाषण करते-करते बीच में उठे और प्रधानमंत्री की कुर्सी पर चले गए और बोले- उठो, उठो. इस पर प्रधानमंत्रीजी ने इशारा किया काहे को उठो. तुम्हारे पिताजी ने बैठाया है क्या? शाह ने आगे कहा, जब प्रधानमंत्री नहीं उठे, तो राहुल जबरदस्ती गले पड़ गए.

अविश्वास प्रस्ताव के दौरान पीएम को गले लगाया 

लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर 12 घंटे लंबी बहस हुई थी. इसमें कांग्रेस की तरफ से राहुल गांधी ने मोर्चा संभालते हुए बीजेपी सरकार पर ताबड़तोड़ हमले बोले. उन्होंने मॉब लिंचिंग से लेकर बेरोजगारी, राफेल डील और हर अकाउंट में 15 लाख रुपये का मुद्दा उठाया. राहुल ने कहा कि हिंदुस्तान की प्रेम की भाषा जानता है और इसकी ताकत सबसे बड़ी होती है. अपना भाषण खत्म करने के बाद वह पीएम मोदी की सीट तक गए और उन्हें उठने का इशारा किया. जब तक पीएम कुछ समझ पाते राहुल ने आगे बढ़कर पीएम को गले लगा लिया.

राहुल ने आंख दबाकर किया इशारा

लेकिन जैसे ही वह अपनी सीट पर वापस लौटे तो साथी सांसद की ओर आंख दबाकर इशारा किया जिससे उनकी जबरदस्त किरकिरी हुई. उनके अच्छे भाषण और पीएम से गले मिलने की उनकी मंशा पर सवाल उठने शुरू हो गए. राहुल के इस बर्ताव को मीडिया में खूब सुर्खियां मिलीं. कांग्रेस ने एकसुर में राहुल की तारीफ की तो बीजेपी ने उन्हें आडे़ हाथों लिया. राफेल डील पर रक्षा मंत्री पर उनके आरोपों को लेकर बीजेपी ने उनके खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लाने का भी फैसला किया.