मध्य प्रदेश में लगातार कई दिनों से हो रही बारिश ने राजधानी भोपाल और 6 और जिलों में जनजीवन को बुरी तरह प्रभावित किया है। कई जगहों में बाढ़ जैसे हालात बन गए जिसमें अलग-अलग जगहों में 11 लोगों के मरने की खबर है। विभिन्न शहरों में नदी-नालों में उफान आ गया है। पुल-पुलिया और बाँधों के क्षतिग्रस्त होने से गांवों व शहरी बस्तियों में जलभराव हो गया है। राहत और बचाव कार्य के लिए सेना और हेलीकॉप्टर की भी मदद ली जा रही है। Also Read - Lockdown in MP Update: मध्यप्रदेश के सभी शहरों में वीकेंड लॉकडाउन, जानें किन चीजों की होगी इजाजत और कहां रहेगी पाबंदी...

यह भी पढ़ेंः मप्रः भारी बारिश से कई जिलों में जनजीवन अस्त-व्यस्त, सेना और हेलीकॉप्टर बुलाए गए Also Read - भोपाल, इंदौर के बाद MP के इन चार बड़े शहरों में हर रविवार को Lockdown, जानें शिवराज सरकार का क्या है पूरा फैसला

Also Read - MP Lockdown News: मध्य प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों से CM शिवराज 'परेशान', Lockdown को लेकर दिया बड़ा बयान....

ये नदियाँ उफान पर

लगातार हो रही बारिश में राज्य की सभी प्रमुख नदियाँ उफान पर हैं। इनमें नर्मदा, बेतवा, जामनी, धसान, सुनार, कोपरा, बीला, जम़ार, टमस का जलस्तर काफी बढ़ गया है। इसके चलते राजधानी भोपाल समेत सतना, टीकमगढ़, जबलपुर, छतरपुर, दमोह और पन्ना जिलों में जनजीवन बुरी तरह प्रभावित है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि दो लोगों की मौत भोपाल में और टीकमगढ़, रीवा, झाबुआ, बैतूल, रायसेन, पन्ना जिले में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है।

यह भी पढ़ेंः बुंदेलखंडः पहले सूखे ने झुलसाया और अब बारिश किसानों को ले डूबी

हेल्पलाइन नंबर जारी

प्रदेश में पिछले तीन चार दिनों से हो रही बारिश से उत्पन्न बाढ़ जैसे हालात को देखते हुए राहत और बचाव कार्य तेज कर दिए गए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है जिसमें कॉल करके बचाव कार्यों का जायजा लिया जा सकता है। 077-2441419 पर फोन करके राहत कार्यों की जानकारी ली जा सकती है। इसके अलावा 1079 पर भी कॉल किया जा सकता है। हालात को देखते हुए कई जिलाधिकारियों ने जिले के स्कूलों में अवकाश की घोषणा कर दी है।