भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में मंगलवार को होने वाले कार्यकर्ता महाकुंभ से ठीक पहले बीजेपी को बड़ा झटका लगा है. पार्टी की वरिष्ठ नेता और राज्य समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष (दर्जा प्राप्त कैबिनेट मंत्री) पद्मा शुक्ला ने उपेक्षा और प्रताड़ना से क्षुब्ध होकर भाजपा की प्राथमिक सदस्यता के साथ अपने पद से भी इस्तीफा दे दिया.Also Read - UP: BJP समर्थित बागी सपा विधायक नितिन अग्रवाल बड़े अंतर से यूपी विधानसभा के उपाध्यक्ष चुने गए, CM योगी ने SP पर हमला किया

Also Read - जिम में पति के साथ गर्लफ्रेंड को देखकर भड़की पत्‍नी ने जूते-चप्‍पल से की जमकर पिटाई, वीडियो हुआ वायरल

Also Read - सुना है कि बीजेपी अपने 150 MLA के टिकट काटने जा रही... हमने 300 सीटों को पार कर लिया: अखिलेश यादव

बता दें कि राज्य में सत्तारूढ़ बीजेपी एसटी/एससी उत्पीड़न कानून के विरोध को लेकर सवर्ण और पिछड़ों के विरोध का सामना कर रही है. इससे पहले बीजेपी के कुछ नेताओं ने पार्टी छोड़ी है. इनमें पूर्व विधायक लक्ष्मण तिवारी भी हैं.

एमपी: एससी/एसटी एक्ट के मामलों में 75 फीसदी लोग बरी हुए, दुरुपयोग पर ये कानून सवालों के घेरे में

बीजेपी नेता पद्मा शुक्ला ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह को लिखे पत्र में कहा, “मैं 1980 से भाजपा की प्राथमिक सदस्य रही हूं व पार्टी के विभिन्न दायित्वों का निर्वहन किया है, मगर विजय राघवगढ़ (कटनी जिला) विधानसभा चुनाव के उपचुनाव के बाद से मेरी लगातार उपेक्षा हो रही है, उपेक्षा और प्रताड़ना से क्षुब्ध होकर भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे रही हूं.” शुक्ला की ओर से बताया गया कि उन्होंने नैतिकता के आधार पर समाज कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष पद से भी इस्तीफा दे दिया गया है.

एमपी: बीजेपी नेता ने राइफल से सिर में गोली मारकर की सुसाइड