नई दिल्ली: कांग्रेस ने सोमवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पक्ष में प्रचार कर दूसरे देशों के चुनावों में दखल नहीं देने के भारतीय विदेश नीति के स्थापित सिद्धांत का उल्लंघन किया है. पार्टी के वरिष्ठ प्रवक्ता आनंद शर्मा ने यह दावा भी किया कि यह भारत के दीर्घकालिक कूटनीतिक हितों के लिए बड़ा झटका है.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ”आपको (मोदी) याद दिलाना चाहता हूं कि आप अमेरिकी चुनाव में स्टार प्रचारक की तरह नहीं, बल्कि भारत के प्रधानमंत्री के तौर पर अमेरिका गए हैं.”

कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता शर्मा ने कहा, प्रधानमंत्री जी, आपने दूसरे देशों के आंतरिक चुनावों में दख़ल न देने के भारतीय विदेश नीति के स्थापित सिद्धांत का उल्लंघन किया है. यह भारत के दीर्घकालिक कूटनीति हितों के लिए बहुत बड़ा झटका है.”

कांग्रेस नेता ने यह भी कहा, “अमेरिका के साथ हमारा रिश्ता हमेशा से दोनों पार्टियों (रिपब्लिकन और डेमोक्रेट) को लेकर एक जैसा रहा है. आपका खुलकर ट्रंप के लिए प्रचार करना भारत और अमेरिका जैसे संप्रभु और लोकतांत्रिक देशों में दरार पैदा करने वाला है.

बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 सितंबर को अमेरिका के ह्यूस्टन में ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में डोनाल्ड ट्रम्प को 2020 में पुन: निर्वाचित करने के लिए रविवार को लोगों का उत्साहवर्धन करते हुए कहा ‘अबकी बार, ट्रम्प सरकार’

वहीं, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एनआरजी स्टेडियम में रविवार को संपन्न हुए बहुप्रतीक्षित ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम के बाद 50,000 भारतीय-अमेरिकियों के प्रति अपना आभार प्रकट करते हुए कहा कि अमेरिका को भारत से प्रेम है. इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ट्रंप के आगमन पर लोगों ने उनका भव्य स्वागत किया.

ट्रंप और मोदी ने एक-दूसरे को गले लगाया और वे इस ऐतिहासिक अवसर का उत्सुकता से इंतजार कर रहे समूह का हाथ हिला कर अभिवादन करते हुए मंच की तरफ बढ़े. यह पहली बार था जब ट्रंप और मोदी ने साथ मंच साझा किया और रिकॉर्ड 50,000 भारतीय-अमेरिकियों को संबोधित किया. ट्रंप ने एक संक्षिप्त ट्वीट किया, ”अमेरिका भारत से प्रेम करता है.” उन्होंने ह्यूस्टन में एनआरजी स्टेडियम के जोशपूर्ण माहौल को अद्भुत बताया.