मरणोपरांत बहादुर रिया की तस्वीर के साथ मम्मी-पापा (साभार- हिंदुस्तान)Also Read - UP: 12 साल से फरार एक लाख का इनामी बदमाश अमरोहा रेलवे स्‍टेशन से गिरफ्तार

Also Read - Mujaffarnagar riot based Movie 'Shorgul' is in controversy, fatwa against jimi shergil | यूपी के मुजफ्फरनगर दंगों पर बनी फिल्म शोरगुल भी विवादों में, जिमी शेरगिल के खिलाफ फतवा जारी

उप्र स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने वर्ष 2015 में मरणोपरांत राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार प्राप्त शामली की बहादुर बेटी रिया चौधरी के हत्यारे रोहताश को ग्रेटर नोएडा से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। उस पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित था। रोहताश मुजफ्फरनगर के सांप्रदायिक दंगों में भी शामिल रहा था। जिसे करीब दो वर्ष से सीबीआई तलाश कर रही थी। रोहताश मंगलवार रात उप्र पुलिस के कांस्टेबल चंद्रपाल सिंह की हत्या करने के इरादे से ग्रेटर नोएडा आया था। इस सूचना पर एसटीएफ ने उसे शहर के नॉलेज पार्क से मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया। बता दें वर्ष 2014 में मुजफ्फरनगर के भौंरा कला थाना क्षेत्र में जमीन के विवाद में रिया के पिता सुरेश पाल और पड़ोसी चंद्रपाल पर हमला हुआ था। चंद्रपाल उत्तरप्रदेश पुलिस में सिपाही है।

यह भी पढ़ेंः प्यार पर वारः मुंबई में 15 साल के लड़के को पीट-पीटकर मार डाला

अपने पिता को बचाने के दौरान रिया मारी गई। रिया का केस जहां सीबीआई को ट्रांसफर कर दिया गया, वहीं रिया को मरणोपरांत 26 जनवरी 2015 में राष्ट्रपति से राष्ट्र वीरता पुरस्कार प्रदान किया गया। प्रेस कांफ्रेंस में एसपी एसटीएफ पश्चिमी उत्तर प्रदेश हिमांशु कुमार ने बताया कि हत्यारा रोहताश पर केंद्रीय जांच ब्यूरो की तरफ से एक लाख रुपये का इनाम घोषित था। यह हत्या के बाद 2014 से वांटेड चल रहा था।

वहीं पकड़ा गया आरोपी मुजफ्फरनगर में हुए दंगे में भी शामिल था। यह विनोद बावला गैंग का सक्रिय सदस्य है। यह नोएडा पुलिस में तैनात चंद्रपाल को धमका कर रिया केस में समझौता देने बीती रात को आया था। एसपी हिमांशु कुमार ने बताया कि बीती रात को एसटीएफ को सूचना मिली कि एक लाख रुपये का इनामी बदमाश के नोएडा आने की सूचना मिली जिसके आधार पर एसटीएफ ने नॉलेज पार्क थाना क्षेत्र से एक मुठभेड़ के दौरान रोहताश को गिरफ्तार किया।

यह कुख्यात विनोद बावला गैंग का सक्रिय सदस्य है। पूछताछ के दौरान गिरफ्तार आरोपी ने कई कुख्यात वारदातों में शामिल होना स्वीकार किया है। उन्होंने बताया कि रोहताश की गिरफ्तारी की सूचना सीबीआई को दी गई है। सीबीआई के वरिष्ठ अधिकारी उससे पूछताछ करने आ रहे हैं।