Also Read - भाजपा सरकार की न तो नीतियां सही हैं, नीयत, योगी राज में विकास का पहिया थम गया है : अखिलेश

लखनऊ, 23 नवम्बर | समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने रविवार को सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनके मंत्रियों, विधायकों व अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई। मुलायम ने अखिलेश की ओर इशारा करते हुए साफ शब्दों मे कहा कि सिर्फ योजनाओं का शिलान्यास करने से काम नहीं चलेगा, ये बताओ कि उद्घाटन करने का मौका कब मिलेगा। Also Read - दुष्कर्म की घटनाओं को लेकर अखिलेश यादव ने कहा- 'रोमियो स्क्वॉड' हुआ लापता, अब यही हाल 'मिशन शक्ति' का भी होगा

मुलायम ने रविवार को 5 कालीदास मार्ग पर अपने पुत्र और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन करते हुए यह बात कही।
मुलायम ने कहा, “सरकार अच्छा काम कर रही है लेकिन विकास की रफ्तार काफी धीमी है। सिर्फ योजनाओं के शिलान्यास का मौका ही मिल रहा है। मैं तो चाहता हूं कि मुझे योजना पूरी होने के बाद उद्घाटन का मौका मिले।” Also Read - सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव कोरोना वायरस की चपेट में आए, इलाज जारी

मुलायम ने इस मौके पर सरकार के मंत्रियों व विधायकों के साथ ही अधिकारियों को जमकर डांट पिलाई। मुलायन ने कहा, “जब मैं मुख्यमंत्री था तब योजना के शिलान्यास के साथ ही उद्घाटन की तिथि भी तय कर देता था। लेकिन वर्तमान सरकार में इसका आभाव है।” उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री और मंत्री मुझे इस बात की सूची दें कि उन्होंने अपने कार्यकाल में कौन-सा अच्छा काम किया है। सिर्फ एक काम बता दें जिससे जनता खुश हो।

मुलायम ने कहा, “मैं तो चाहता हूं कि उप्र में जितने मंत्री, विधायक, सांसद और अधिकारी हैं, वे अपने गांव को अच्छा बनाएं। यदि सभी लोग मेरी बात सुनेंगे तो विकास अपने आप हो जाएगा। सरकार गरीबी मिटाने का प्रयास करे, गंदगी अपने आप दूर हो जाएगी।” मुलायम ने इस दौरान हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना भी की। मुलायम ने कहा कि यह अच्छी बात है कि प्रधानमंत्री कई देशों की यात्रा कर रहे हैं। उन्होंने कहा, “देश के अच्छे रिश्ते जितने अधिक देशों से होंगे, देश की विदेश नीति उतनी ही अच्छी होती है।”

सांसद आदर्श ग्राम योजना को लेकर मुलायम ने कहा, “जो काम प्रधानमंत्री मोदी आज कर रहे हैं, वह मैं बहुत पहले कर चुका हूं लेकिन तुम लोग उसका प्रचार ही नहीं कर पा रहे हो।” ज्ञात हो कि यह एक्सप्रेस वे आगरा, फिरोजाबाद, शिकोहाबाद, मैनपुरी, इटावा, कन्नौज, हरदोई और लखनऊ के मलिहाबाद से होकर गुजरेगा। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के दोनों तरफ झील और हरी पट्टी भी बनाए जाने का प्रस्ताव है।

शिलान्यास कार्यक्रम में अखिलेश यादव ने कहा कि इस एक्सप्रेस-वे से राज्य में खुशहाली आएगी। जिलाधिकारियों, अधिकारियों और किसानों के सहयोग से यह निर्माण हो रहा है। किसानों ने बिना नाराजगी अपनी जमीन दे दी, ऐसा कहीं नहीं हुआ था। एक्सप्रेस-वे से प्रदेश में आने वाली खुशहाली की स्पीड बढ़ेगी।

करीब 300 किलोमीटर लंबा छह लेन वाली यह परियोजना आगरा लखनऊ एक्सप्रेस-वे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की खास परियोजनाओं में शामिल है। इस परियोजना के पूरा होने के बाद लखनऊ से आगरा के बीच लगने वाला समय घटकर आधा रह जाएगा।

छह लेन वाले इस इको फ्रेंडली एक्सप्रेस-वे का निर्माण ईपीसी (इंजीनियरिंग, प्रोक्यूरमेंट ऐंड कंस्ट्रक्शन) मॉडल के तहत किया जाएगा।