लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा समाजवादी पार्टी (सपा) संरक्षक और पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव को आवंटित आलीशान बंगला और लोहिया ट्रस्ट कार्यालय का भवन खाली कराए जाने के बाद अब उनकी मंहगी एसयूवी मर्सिडीज कार भी वापस ली जाने वाली है. एस्टेट विभाग के सूत्रों के अनुसार, मर्सिडीज में कुछ तकनीकी खामी आ गई है और मरम्मत के लिए 26 लाख रुपयों की जरूरत है.

विभाग ने कहा, “हमारा बजट मरम्मत के लिए इतनी ज्यादा कीमत आवंटित नहीं कर सकता, इसलिए हम मुलायम सिंह को कोई अन्य उचित कार शायद प्राडो दे देंगे.” सपा नेताओं ने इसे राज्य की भाजपा सरकार द्वारा पार्टी नेताओं पर एक और हमला बताया है.

मुलायम से मिलने उनके घर पहुंचे CM योगी, अखिलेश और शिवपाल से भी कुछ इस तरह की मुलाकात

एक सपा नेता ने बताया, “सरकार प्रचार और विज्ञापन में करोड़ों रुपये खर्च कर सकती है लेकिन कार की मरम्मत के लिए 26 लाख रुपये नहीं दे सकती. यह साबित करता है कि भाजपा बदले की राजनीति कर रही है.” मुलायम सिंह और उनके बेटे को पूर्व मुख्यमंत्री के तौर पर आवंटित बंगले सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद खाली करने पड़े थे. इसी महीने राज्य सरकार ने शीर्ष कोर्ट के निर्देश पर लोहिया ट्रस्ट का कार्यालय भी खाली करा दिया था.