नई दिल्ली : अन्य देशों के बाद अब भारत में भी लगातार कोरोना वायरस (Coronavirus) के केस बढ़ते जा रहे हैं, जिससे देश के लोगों में दहशत का माहौल है. देश में इस घातक वायरस को लेकर स्थिति चिंताजनक बनी हुई है. कोरोना वायरस के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने भी इससे उत्पन्न स्थिति की समीक्षा करते हुए शनिवार को अधिकारियों के साथ बैठक की और संदिग्ध मरीजों को अन्य मरीजों से अलग रखने और इन मरीजों की जल्द से जल्द पहचान करने और बेहतर इलाज की व्यवस्था करने को कहा है. Also Read - राहुल गांधी ने जारी किया श्वेत पत्र, कहा- तीसरी लहर की तैयारी करे सरकार, बढ़ाई जाए टीके की रफ्तार

भारत में कोरोना वायरस का डर लोगों पर इस कदर हावी हो गया है कि अब लोग होली खेलने से भी बच रहे हैं. ऐसे में मुंबई (Mumbai) में होलिका दहन के मौके पर एक अलग ही नजारा देखने को मिला, जहां लोगों ने होलिका दहन की जगह कोरोनासुर का पुतला जलाया और इस वायरस के जल्द से जल्द भारत से जाने की कामना की. वहीं इस कोरोनासुर को लेकर खास बात यह रही कि इसे जलाने के लिए किसी तरह की लकड़ी या अन्य चीजों का इस्तेमाल ना करके इंजेक्शन की तरह की एक आकृति का इस्तेमाल किया गया. Also Read - कोरोना की वैक्सीन से बांझपन और नपुंषकता का है खतरा? जानें क्या है वायरल दावे की सच्चाई

मुंबई में कोरोनासुर का यह पुतला वर्ली इलाके में लगाया गया था, जहां इसे होलिका दहन के मौके पर जलाया गया. इस बड़े से पुतले में COVID-19 भी लिखा था और साथ ही इसके हाथ में एक सूटकेस भी पकड़ाया गया था, जिसमें आर्थिक मंदी लिखा था. बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के नए आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना वायरस के 2,241 नए मामले दर्ज होने के बाद संक्रमित लोगों की संख्या 95,333 पहुंच चुकी है.