मुंबई: एक पवन हंस हेलीकॉप्टर मुंबई के जुहू हवाईअड्डे से उड़ान भरने के तुरंत बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया. हेलीकॉप्टर में ओनएजीसी के पांच अधिकारी और दो पायलट सवार थे. भारतीय तट रक्षक (आईसीजे) बल और अन्य एजेंसियों द्वारा बड़े पैमाने पर शुरू किए गए तलाशी अभियान में दुर्घटनाग्रस्त हेलीकॉप्टर के कुछ हिस्सों के अलावा 4 शव बरामद कर लिए गए हैं. Also Read - अगर सरकार हां करे, प्रवासियों को दिल्ली,मुंबई से पटना छोड़ आएंगे : स्पाइसजेट

आईसीजे का जहाज अग्रिम अरब सागर से पंकज गर्ग नाम के एक यात्री के शव सहित 4 शव बरामद करने में सफल रहा. एक आईसीजे अधिकारी ने कहा कि दुर्घटनाग्रस्त हेलीकॉप्टर का मलबा ठाणे जिले के उत्तम बीच के पास मिला. Also Read - COVID19: मुंबई की यह मुस्लिम फैमिली हर रोज 800 से ज्‍यादा भूखे लोगों को फ्री खाना खिला रही

डॉफिन हेलीकॉप्टर, वीटी पीडब्ल्यूए ने सुबह 10.20 बजे उड़ान भरी और इसके 15 मिनट बाद ही मुंबई एटीसी और ऑयल एंड नैचुरल गैस कॉर्पोरेशन (ओएनजीसी) दोनों से इसका संपर्क टूट गया.

उस समय इसके मुंबई तटरेखा से लगभग 55 किलोमीटर दूर, संभवत: ओएनजीसी के बॉम्बे हाई ऑयलफील्ड्स के रास्ते में होने का अनुमान लगाया गया, जो यहां से उत्तरपश्चिम में 175 किलोमीटर की दूरी पर है. एक आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा है कि भारतीय तटरक्षक बल ने तलाशी और बचाव अभियान के लिए दुर्घटना वाले क्षेत्र में चार जहाज, एक डोर्नियर विमान और दो हेलीकॉप्टर भेजे हैं.