भूमाता रणरागिनी ब्रिगेड’ की अध्यक्ष तृप्ति देसाई को गुरूवार रात को हिरासत में लिया गया। वह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के आवास की ओर बढ़ रही थी। उन्हें ब्रीच कैंडी अस्पताल के पास हिरासत में लिया गया। Also Read - देवेंद्र फडणवीस की प्रशंसा में जुटी शिवसेना, कहा- वो आज भी ऊर्जावान हैं और अच्छा काम कर रहे

Also Read - महाराष्ट्र: इस्‍तीफे के बाद कांग्रेस-एनसीपी के 4 विधायक बीजेपी में शामिल, 50 एमएलए संपर्क में

यह भी पढ़े: हाजी अली दरगाह पहुंची तृप्ति देसाई, पुलिस ने गाडी से बाहर ना निकलने को कहा Also Read - महाराष्ट्र दिवस पर गढ़चिरौली में 24 घंटे में दूसरा नक्सली हमला, IED धमाके में 16 जवान शहीद

आपको बता दें की तृप्ति देसाई आज मुंबई के हाजी अली दरगाह में महिलाओं को एंट्री दिलाने के लिए लड़ने पहुंची थी मगर वह असफल रही। उन्हें दरगाह में घुसाने ही नहीं दिया गया। उन्हें दरगाह से कुछ दुरी पर ही रोक लिया गया।

आपको बता दें की कुछ दिनों पहले तृप्ति ने कई अन्य सामाजिक, धार्मिक समूहों के साथ 28 अप्रैल को हाजी अली की दरगाह में प्रवेश करके पवित्र मजार पर माथा टेकने की घोषणा की थी। यह कदम कई मुस्लिम महिलाओं और संगठनों की मांग पर उठाया गया है जो राज्य में पूजा स्थलों में लैंगिक भेदभाव समाप्त करने के लिए अभियान चला रहे हैं।

वहीँ हाजी अली दरगाह ट्रस्ट ने मौजूदा मान्यताओं को इस आधार पर सही ठहराया है कि महिलाओं को मजार तक प्रवेश का अधिकार देना ‘इस्लाम विरोधी’ कृत्य होगा। इस मामले में ‘आजाद वूमेन वेलफेयर एसोसिएशन’ की प्रमुख मदीना शेख छह सदियों पुरानी इस दरगाह में तृप्ति के प्रवेश को रोकने में उनके साथ खड़ी हो गई हैं।