मुंबई: मुंबई में बारिश रुकने का नाम ही नहीं ले रही है. पिछले 5 दिनों से मुंबई पानी-पानी हो गई है. बुधवार सुबह से यहां हल्की बारिश हो रही है. निचले इलाके पानी से भर गए हैं. लोगों का घरों से निकलना मुश्किल हो गया. मौसम विभाग ने अगले 48 घंटों में मुंबई में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. मुख्यमंत्री फडणवीस ने सभी से घरों के अंदर रहने की अपील की है. लगातार बारिश से जगह-जगह रेलवे ट्रैक पर पानी भर गया है, जिससे ट्रेनों की आवाजाही ठप है. लंबी दूरी की आठ ट्रेनें आज रद्द कर दी गई हैं. कई ट्रेनों का रूट डायवर्ट किया गया है.

मुंबई में लगातार हो रही बारिश से नालासोपारा और वसई रोड स्टेशनों के बीच रेल की पटरियों के पानी में डूबे होने के कारण नालासोपारा स्टेशन में फंसे यात्रियों को निकालने के लिए नौसेना को तैनात किया गया है. रक्षा प्रवक्ता ने बुधवार को बताया कि पश्चिम रेलवे के अनुरोध के बाद पश्चिमी नौसेना कमान ने अत्याधुनिक वाहनों को काम पर लगाया है जो बाढ़ग्रस्त इलाके को पार कर फंसे हुए यात्रियों तक पहुंच सकते हैं.

मुंबई में पिछले 48 घंटे से तेज बारिश हो रही है जिससे कई इलाकों में पानी भर गया है और इससे सड़क और रेल यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ है. उन्होंने बताया कि पश्चिमी नौसेना कमान आपात स्थितियों मे मुंबईवासियों को सहायता पहुंचाने के लिए बचाव दल तथा आपातकालीन उपकरण रखता है.

उत्तराखंड के बागेश्वर के कपकोट में पिछले दो दिन से हो रही भारी बारिश के कारण जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. बारिश का पानी दुकानों, घरों में घुस गया है. सड़कों पर पानी की रफ्तार इतनी तेज थी कि वहां खड़ी गाड़ियां बह गई. कई गाड़ियां मलबे में दब गईं तो कई बहकर नदी में चली गईं. उधर, असम के गुवाहाटी में भी बाढ़ जैसे हालात हैं. ब्रह्मपुत्र नदी ख़तरे के निशान से ऊपर बह रही है. कई घर डूब गए हैं.

गुजरात के कई इलाकों में भी बारिश हो रही है. गुजरात के जूनागढ़ में कई जगह झरने जैसी तस्वीरें देखने को मिल रही है. वहीं मध्य प्रदेश के रायसेन में भारी बारिश के बाद एक पुल बह गया. इससे रायसेन और सांची के बीच आवाजाही बंद हो गई है. विदिशा जाने के लिए दो वैकल्पिक रास्तों का इस्तेमाल किया जा रहा है जबकि सांची के लिए लोगों को विदिशा होकर जाना पड़ रहा है.