नई दिल्लीः दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections 2020) के लिए शनिवार को संपन्न हुए मतदान में दिल्लीवासियों ने आम आदमी पार्टी (आप) को जबरदस्त तरीके से समर्थन दिया. सभी जाति, उम्र व आय वर्ग के मतदाताओं ने ‘आप’ के पक्ष में मतदान किया, लेकिन मुस्लिम समुदाय का वोटिंग पैटर्न जोरदार रहा.  एग्जिट पोल के नतीजों के अनुसार, मुस्लिम समुदाय के 60 फीसदी मतदाताओं ने ‘आप’ के पक्ष में मतदान किया जोकि भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस को समुदाय के मिले वोटों का तकरीबन दोगुना है. Also Read - अरविंद केजरीवाल की पत्नी कोरोना वायरस से संक्रमित, मुख्यमंत्री ने खुद को किया क्वारेंटाइन

सर्वेक्षण में दिल्ली के सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों से 11,839 मतदाताओं को शामिल किया गया. उनसे पूछे गए सवालों के आधार पर तैयार सर्वेक्षण के नतीजों के अनुसार, दिल्ली में 60 फीसदी मुस्लिम मतदाताओं ने ‘आप’ के पक्ष में मतदान किया जबकि समुदाय के 18.9 फीसदी मतदाताओं ने भाजपा के पक्ष में और 14.5 फीसदी कांग्रेस के पक्ष में मतदान किया. Also Read - Delhi Lockdown: दिल्ली में लॉकडाउन शुरू, CM केजरीवाल ने ट्वीट कर कही यह बात...

दिल्ली की सभी 70 विधानसभा सीटों के लिए शनिवार को मतदान संपन्न हुआ. चुनाव के परिणाम मंगलवार को आएंगे. अगर लोकसभा क्षेत्र की बात करें आप पार्टी को दिल्ली के सभी लोकसभा सीट पर भारी जीत मिल सकती है. ‘आप’ को चांदनी चौक लोकसभा क्षेत्र में सात से नौ विधानसभा सीटों पर जीत मिल सकती है जबकि भारतीय जनता पार्टी को एक से तीन सीटें मिलने की उम्मीद है, वहीं कांग्रेस के खाते में एक सीट जा सकती है. Also Read - कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में टीकाकरण सबसे बड़ा हथियार: पीएम मोदी

पूर्वी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र में ‘आप’ को छह से आठ विधानसभा सीटों पर जीत मिल सकती है, जबकि भाजपा को एक से तीन सीटें मिल सकती हैं वहीं कांग्रेस को एक सीट मिलने की उम्मीद है. वहीं, नई दिल्ली लोकसभा क्षेत्र में ‘आप’ को सात से नौ विधानसभा सीटों पर जीत मिलने की उम्मीद है जबकि भाजपा के खाते में एक से तीन सीटें जा सकती हैं और कांग्रेस को यहां कोई सीट नहीं मिलने की उम्मीद है. इस लोकसभा क्षेत्र में नई दिल्ली विधानसभा से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल खुद चुनाव मैदान में हैं.