लखनऊ| उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से शुक्रवार को मुस्लिम महिलाओं ने मुलाकात की. सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करने के बाद मुस्लिम महिलाओं ने यूपी से ट्रिपल तलाक को खत्म करने की मांग की. इन महिलाओं ने सीएम से उनके आवास पर मुलाकात की. तीन तलाक का मुद्दा गरमाया हुआ है और मुस्लिम महिलाओं की तरफ से इसे खत्म करने की मांग लगातार उठ रही है.Also Read - Crime News: तीन तलाक के बाद भी पत्नी ने नहीं छोड़ा घर, फंसाने के लिए बाप ने करवा दी बेटी की हत्या

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने अपने घोषणापत्र में मुस्लिम महिलाओं से यह वादा किया था. अगर यूपी में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी तो उनकी सरकार ट्रिपल तलाक पर महिलाओं से बात करेगी और उसके बाद जो लोगों की सहमति होगी उसके आधार पर कानून में बदलाव के लिए आगे का काम किया जाएगा. Also Read - UP: तीन तलाक कहने के बाद पति ने अश्लील वीडियो शेयर किया, पत्नी ने की सुसाइड

बता दें कि देश में ट्रिपल तलाक पर चल रही बहस के बीच ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड ने इसपर प्रतिबंध लगाने की मांग की है. बुधवार को ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड ने लखनऊ में ट्रिपल तलाक पर बैन का समर्थन किया है. ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड समेत कई दूसरे इस्लामिक संगठन ट्रिपल तलाक में दखल के विरोध में हैं. Also Read - UP: छठवें निकाह को लेकर विवादों में आए पूर्व मंत्री चौधरी बशीर ट्रिपल तलाक केस में अरेस्‍ट

ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर जमकर राजनीति भी हो रही है और अब यह मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया है. इस मामले पर 11 मई को सुप्रीम कोर्ट में होनी है. लेकिन इस मसले पर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड जैसे मुस्लिम संगठनों ने विरोध जताया है. इस मसले पर कई मुस्लिम महिलाओं ने बीजेपी का समर्थन भी किया है. उत्तर प्रदेश में बीजेपी के इस प्रचंड जीत के पीछे यह भी एक कारण माना जा रहा है.