नई दिल्ली. दिल्ली में प्याज की बढ़ती कीमतों को देखते हुये केंद्र ने शुक्रवार को सहकारी संस्था नेफेड को प्याज के बफर स्टॉक से इसकी आपूर्ति बढ़ाने का निर्देश दिया. साथ ही मदर डेयरी को उसकी सफल ब्रांड दुकानों पर प्याज का भाव 2 रुपये प्रति किलो कम करने को कहा गया है. उपभोक्ता मामलों के सचिव अविनाश कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में उच्च स्तीय बैठक में इस संबंध में निर्णय लिया गया. प्याज की आपूर्ति की स्थिति और कीमतों की समीक्षा के लिये यह बैठक बुलायी गयी थी.

आंकड़ों के मुताबिक, सीमित आपूर्ति से फिलहाल दिल्ली में खुदरा बाजार प्याज की कीमतें 30 से 40 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गयी हैं. मंत्रालय ने बयान में कहा, एक सप्ताह के भीतर खरीफ फसल की आवक में उल्लेखनीय वृद्धि होने की उम्मीद है. इससे प्‍याज के उपभोग वाले क्षेत्रों में इसकी उपलब्धता बढ़ जाएगी जिससे कीमतों को नीचे लाने में मदद मिलेगी.

2-3 गुना होनी चाहिए बढोत्तरी
बैठक में तय किया गया है कि मूल्य स्थिरीकरण कोष (पीएसएफ) के तहत बफर स्टॉक से दिल्ली में प्याज की आपूर्ति मौजूदा स्तर की तुलना में 2-3 गुना बढ़ाई जानी चाहिए, ताकि बाजार में प्‍याज की अंतरिम आपूर्ति में किसी भी तरह की बाधा नहीं आये. कार्यान्वयन एजेंसी नेफेड को पीएसएफ स्टॉक से प्याज की आपूर्ति बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं. मदर डेयरी को प्याज की सभी किस्‍मों की कीमतों में 2 रुपये की कमी करने को कहा है.

सरकार ने कहा कि मदर डेयरी ने इस पर सहमति जताते हुये दिल्ली में अपने सभी स्टोरों पर बिना पैकिंग या खुले में उपलब्‍ध प्‍याज की कीमत को 25.90 रुपये से घटाकर 23.90 रुपये कर दिया है. पैकिंग में उपलब्‍ध प्‍याज की कीमत को 27.90 रुपये से घटाकर 25.90 रुपये करने पर सहमत हो गयी.