नगालैंड में 27 फरवरी को हाेने वाले विधानसभा चुनावों का क्षेत्रीय दलों समेत बीजेपी और कांग्रेस जैसे राष्ट्रीय दलों ने बहिष्कार करने का फैसला किया है. सोमवार को राज्य की राजधानी कोहिमा में सभी राजनीतिक दलों की बैठक  हुई. इस बैठक में सभी दलों ने अगले महीने होने वाले विधानसभा चुनावों के बहिष्‍कार का फैसला किया. राजनीतिक दलों ने विधानसभा चुनाव से पहले नगा समस्या के समाधान की मांग की है. Also Read - MP ByPolls 2020: मप्र में नामांकन का आज अंतिम दिन, अब तक 216 उम्मीदवारों ने पर्चे भरे

बता दें कि इस संबंध में 11 सियासी दलों के नेताओं ने लेटर पर हस्‍ताक्षर किए हैं. इस लेटर में लिखा है कि नगाओं को चुनाव नही समाधान चाहिए. इस लेटर में यह भी मांग की गई है कि सभी दल नगालैंड के भले के लिए आगे आएं. नगा समस्या का समाधान तलाश करें. Also Read - UP By Election: यूपी उपचुनाव के लिए सपा ने की उम्मीदवारों की घोषणा, इन्हें मिला टिकट

इस बीच ‘नगालैंड ट्राइबल होहोज एंड सिविल आर्गनाइजेशंस’ की कोर कमिटी के संयोजक ने कहा कि पार्टियों ने 27 फरवरी को राज्य में होने वाले चुनाव में खड़े नहीं होने की हमारी मांग पर सहमति जताई है. Also Read - जो चुनाव हारा उस पर मेहरबान हुए लोग, चंदा करके गिफ्ट किए 21 लाख रुपए

बता दें कि नागालैंड में अगले महीने की 27 तारीख को विधानसभा चुनाव होने है. 27 फरवरी को नगालैंड के साथ ही मेघालय में भी चुनाव होना है. अब देखना होगा कि इस समस्या का क्या समाधान निकलता है.