अहमदाबाद: भारत के दौरे पर आए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को यहां के मोटेरा स्टेडियम में कहा कि भारत व अमेरिका आतंकवाद से लड़ाई को लेकर प्रतिबद्ध है। ट्रंप ने इसके साथ ही कहा कि वह पाकिस्तान के समक्ष उसकी (पाकिस्तान की) धरती से आतंकवाद के संचालित होने का मुद्दा भी उठाएंगे। ट्रंप ने कहा, “भारत और अमेरिका कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद से अपने लोगों को बचाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।” Also Read - Ease of Living Index: रहने के लिए सबसे अच्छा है देश का यह शहर, सरकार ने जारी की लिस्ट

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को कहा कि भारत – अमेरिका के बीच स्वाभाविक और स्थायी मित्रता है और उनके देश के साथ संबंधों में भारत का विशेष स्थान है. ट्रंप ने कहा कि अमेरिका भारत को पसंद करता है और उसका निष्ठावान मित्र बना रहेगा. अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में आयोजित ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘ भारत और अमेरिका के बीच स्वाभाविक और स्थायी मित्रता है. भारत व्यक्तिगत स्वतंत्रता, कानून के शासन, हर इंसान की गरिमा का सम्मान करता है, यहां लोग सौहार्द के साथ अपने धर्म का पालन कर सकते हैं .’’ Also Read - WATCH: मैदान पर भिड़े विराट कोहली-बेन स्टोक्स; अंपायर को रोकना पड़ा झगड़ा

उन्होंने कहा कि हम दुनियाभर में अपने गठबंधनों में तेजी से नई जान फूंक रहे हैं. ट्रंप ने कहा कि हम मंगलवार को तीन अरब डॉलर के रक्षा समझौते करेंगे. अमेरिका, भारत का प्रमुख रक्षा साझेदार बनेगा. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘ भारत और अमेरिका अपने लोगों को कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद से बचाने को प्रतिबद्ध हैं.’’ उन्होंने कहा ‘‘ भारत-अमेरिका आतंकवाद और उसकी विचाराधारा से लड़ने को प्रतिबद्ध हैं, इसीलिए मेरी सरकार आतंकवादी समूहों से निपटने के लिए पाकिस्तान के साथ काम कर रही है.’’ Also Read - भारत में COVID-19 संक्रमण में तेजी, 29 जनवरी के बाद आए कोरोना के 17 हजार से ज्‍यादा नए केस

अमेरिकी राष्ट्रपति ने ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम में मोदी के कामों का उल्लेख करते हुए कहा कि अगले 10 साल में आपके देश से अत्यधिक गरीबी दूर हो जाएगी. उन्होंने अपने भाषण की शुरूआत में कहा, ‘‘नमस्ते, यहां होना मेरे लिए बेहद सम्मान की बात है.’’ उन्होंने कहा ‘‘मोदी एक अद्भुत नेता हैं, भारत के लिए दिन-रात काम करते हैं. अमेरिका हमेशा भारत का एक वफादार और निष्ठावान मित्र रहेगा, भव्य स्वागत के लिए शुक्रिया. ’’ ट्रंप ने कहा कि मोदी ने एक विनम्र चायवाले के तौर पर शुरुआत की, उन्होंने चाय की एक दुकान में काम किया, वह इस बात का बेहतरीन उदाहरण हैं कि भारतीय किसी भी मुकाम पर पहुंच सकते हैं.

(इनपुट ऐजेंसी)