नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ई-सिगरेट व ई-हुक्का (E-Cigarettes, E-Hukka) पर प्रतिबंध किए जाने के साथ ही एक और बड़ा फैसला लिया है. रेलवे कर्मचारियों (Railway Employees) को उत्पादकता बोनस के तौर पर 78 दिन का वेतन देने का फैसला लिया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में इस आशय का निर्णय किया गया.

बैठक की जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javdekar) ने संवाददाताओं से कहा कि आज प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में रेलवे कर्मचारियों को 78 दिन का उत्पादकता बोनस देने का निर्णय किया गया. उन्होंने बताया कि इस निर्णय से रेलवे के 11.52 लाख कर्मचारियों को फायदा होगा. यह लगातार छठा वर्ष है जब रेलवे कर्मियों को 78 दिन का बोनस दिया जा रहा है. इस निर्णय से 2024 करोड़ रुपये का बजटीय प्रभाव पड़ेगा.

ई-सिगरेट, ई-हुक्का पीना अब बड़ा अपराध, पहली बार पकड़े जाने पर एक साल की जेल या एक लाख का जुर्माना

जावड़ेकर ने कहा कि इस निर्णय से रेलवे के कर्मचारी प्रोत्साहित होंगे और पूरी ताकत लगाकर काम करेंगे. रेलवे देश की जीवन रेखा है और इस दृष्टि से यह निर्णय महत्वपूर्ण है. इससे रेलवे की कर्मचारियों की उत्पादकता बढ़ेगी.