नई दिल्ली. रॉफेल मामले में कांग्रेस लगातार सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरने की कोशिश कर रही है. कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने शनिवार को कहा, मेरी व्यक्तिगत मांग है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने पद के लायक नहीं हैं. उन्हें तुंरत इस्तीफा दे देना चाहिए और किसी कैबिनेट मंत्री को प्रधानमंत्री बना देना चाहिए. Also Read - बॉक्सर एमसी मैरीकॉम ने खोला सफलता का राज, किया शुरुआती दिनों को याद

 

खड़गे ने कहा, फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने स्पष्ट कर दिया है कि रॉफेल का कॉन्ट्रैक्ट एक प्राइवेट पार्टी को देने में प्रधानमंत्री मोदी का हाथ है. इसमें स्पष्ट होता है कि पीएम अपने दोस्त के लिए फ्रांस से इस डील को करवाए हैं. हम ये कहते आ रहे हैं कि ये एक स्कैम है और पीएम ने उनकी मदद की है.

 

बता दें कि इससे पहले कांग्रसे अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘प्रधानमंत्री और अनिल अंबानी ने मिलकर भारतीय रक्षा बलों पर 130,000 करोड़ रुपये की सर्जिकल स्ट्राइक की है.’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘मोदी जी आपने हमारे शहीदों के लहू का अपमान किया है. आपको शर्म आनी चाहिए. आपने भारत की आत्मा से विश्वासघात किया है.’ गांधी ने ओलांद के कथित बयान को लेकर शुक्रवार को भी प्रधानमंत्री पर निशाना साधा था.

उन्होंने कहा था, ‘प्रधानमंत्री ने बंद कमरे में राफेल सौदे को लेकर बातचीत की और इसे बदलवाया. फ्रांस्वा ओलांद का धन्यवाद कि अब हमें पता चला कि उन्होंने (मोदी) दिवालिया अनिल अंबानी को अरबों डॉलर का सौदा दिलवाया. प्रधानमंत्री ने भारत के साथ विश्वासघात किया है. उन्होंने हमारे सैनिकों के लहू का अपमान किया है.’ फ्रांसीसी मीडिया के मुताबिक ओलांद ने कथित तौर पर कहा है कि भारत सरकार ने 58,000 करोड़ रुपए के राफेल विमान सौदे में फ्रांस की विमान बनाने वाली कंपनी दसाल्ट एविएशन के ऑफसेट साझेदार के तौर पर अनिल अंबानी की रिलायंस डिफेंस का नाम प्रस्तावित किया था और ऐसे में फ्रांस के पास कोई विकल्प नहीं था.