Also Read - 15वें वित्त आयोग की रिपोर्ट तैयार, 9 नवंबर को राष्ट्रपति को सौंपेंगे चेयरमैन एनके सिंह

उधमपुर (जम्मू), 28 नवंबर | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में पिछले 30 साल में कोई विकास नहीं हुआ और इसके लिए यहां के नेता जिम्मेदार हैं, जो भ्रष्टाचार में लिप्त हैं और लोगों का भयादोहन (भावनात्मक रूप से ब्लैकमेल) करते रहे हैं। जम्मू एवं कश्मीर विधानसभा के लिए दो दिसंबर को होने वाले दूसरे चरण के मतदान से पहले एक चुनाव रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि देश में कई प्रधानमंत्री हुए हैं, लेकिन किसी ने भी जम्मू एवं कश्मीर का उतना दौरा नहीं किया, जितना उन्होंने किया। Also Read - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया सरदार पटेल ‘जंगल सफारी’ का उद्घाटन, तोतों से खेलते नजर आए पीएम

मोदी ने कहा, “मैंने बाढ़ पीड़ितों के साथ दीवाली मनाने का निर्णय लिया। मेरा निर्णय राजनीति से प्रेरित नहीं था और न ही यह वोट जुटाने के लिए था।” उन्होंने कहा, “पिछले 30 साल में जो नहीं हुआ, यदि मैं वह पांच साल में न करूं तो आप मुझे इसके लिए जवाबदेह ठहरा सकते हैं और मुझसे सवाल कर सकते हैं।” उन्होंने कहा, “जम्मू एवं कश्मीर में पिछले 30 साल से विकास अवरुद्ध है। सत्तारूढ़ और विपक्ष, दोनों तरफ के नेता भ्रष्टाचार तथा लोगों को भावनात्मक रूप से ब्लैकमेल करने में लिप्त हैं।” Also Read - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत की सेना का पाकिस्तान में खौफ: भाजपा

मोदी ने कहा, “हमें घाटी के विकास के लिए काम करना होगा और इसके लिए मुझे आपसे मदद की