‘आज रात 12 बजे के बाद 500 और 1000 रुपए के नोट लीगल टेंडर नहीं रहेंगे यानी बाजार में अब इन नोट का कोई मोल नहीं है।’ 8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देश के नाम इस संबोधन से लोग हैरान रह गए थे। उसके अगले ही दिन से पूरे देश में अफरा-तफरी मच गई। बैंकों के बाहर लंबी कतारें लग गई। देश को तमाम अव्यवस्थाओं से भी गुजरना पड़ा। सरकार उसके फायदे गिनाने में लगी रही तो विपक्ष ने इसे गलत फैसला बताया। लेकिन उस फैसले के आज 52 दिन पूरे हो चुके हैं। नोटबंदी की मियाद भी 30 दिसंबर को समाप्त हो चुकी है। अब 31 दिसंबर की शाम 7:30 बजे से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर देश के नाम संबोधन देने जा रहे हैं। इस संबोधन की सभी बड़ी बातें आप यहाँ लाइव अपडेट में पढ़ सकते हैं। यह भी पढ़ेंः डिजिधन मेले में पीएम नरेंद्र मोदीः लॉन्च किया भीम ऐप, बोले- ‘अब आपका अँगूठा ही आपका बैंक’ Also Read - मिथुन चक्रवर्ती बीजेपी में शामिल होंगे! PM मोदी के साथ मंच साझा कर सकते हैं, कैलाश विजयवर्गीय से फ़ोन पर की बात

नवर्ष की पूर्व संध्या पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देश के नाम संबोधन पर पूरे देश की निगाहें टिकी हुई हैं। पिछले अनुभवों को देखते हुए लोग कयास लगा रहे हैं कि पीएम आज भी कोई बड़ी घोषणा कर सकते हैं। गौरतलब है कि उन्होंने कई सभाओं से कहा है कि देश मुझे सिर्फ 50 दिन का वक्त का वक्त दे दे। मैं उनके सपने का भारत बनाकर दिखाउँगा। 50 दिन की मियाद पूरी हो चुकी है। इसलिए आज के संबोधन में कुछ नई और बड़ी घोषणाओं के किए जाने का अनुमान है। नए साल 2017 की पूर्व संध्या पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देश के नाम संबोधन का लाइव अपडेट पढ़िए यहाँ… Also Read - देश की आजादी के 75वें वर्ष को मनाने के लिए पीएम मोदी की अध्यक्षता में समिति गठित, सोनिया, ममता और मुलायम सिंह भी शामिल

Also Read - New Education Policy: पीएम मोदी ने कहा- प्री-नर्सरी से पीएचडी तक जल्द ही लागू हों नई शिक्षा नीति के नियम

Live Updates

  • 8:55 PM IST

  • 8:54 PM IST

  • 8:54 PM IST

    पीएम नरेंद्र मोदी के देश के नाम संबोधन के बाद ट्विटर पर कई मज़ेदार रिएक्शन देखने को मिल रहे हैं… आप भी देखिए

  • 8:29 PM IST

  • 8:14 PM IST

    पीएम मोदी ने कहा कि नव वर्ष की नई किरण नए संकल्प लेकर आ रही है। आइए हम नए संकल्प का आवाहन करें। इसी के साथ पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण को समाप्त कर दिया।

  • 8:12 PM IST

  • 8:10 PM IST

    एक्सपर्ट व्यूः बजट से पहले अभी तक ये सभी चुनावी घोषणाएं लग रही हैं। हो सकता है आगामी आम बजट में ये घोषणाएँ न कर पाएं इसीलिए अभी ही कर दी जा रही हैं।

  • 8:09 PM IST

    लोकसभा और विधानसभा चुनावों को साथ कराए जाने के संबंध में भी पीएम मोदी ने सार्थक बहस की जरूरत को बताया।

  • 8:08 PM IST

    अब वक्त है कि देश के राजनेता और राजनीतिक दल जनता की भावनाओं को समझें। आज आवश्यकता है कि सभी राजनीतिक दल मिल बैठकर भ्रष्टाचार और कालेधन से राजनीतिक दलों को मुक्त कराने की दिशा में कदम उठाएँ।