Also Read - बंगाली अंदाज के धोती-कुर्ता में नजर आए PM मोदी, बाबुल सुप्रियो ने किया डिजाइन...

काठमांडू, 26 नवंबर | भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को दक्षेस राष्ट्रों के बीच आर्थिक एकीकरण की प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए आधारभूत संरचना परियोजनाओं में वित्तीय सहयोग का प्रस्ताव रखा, जिससे क्षेत्र में संपर्क और व्यापार को बढ़ावा मिलेगा। मोदी ने नेपाल की राजधानी काठमांडू में आयोजित 18वें दो दिवसीय दक्षेस शिखर सम्मेलन में कहा, “आधारभूत संरचना भारत में मेरी शीर्ष प्राथमिकता है और मैं दक्षेस क्षेत्र में आधारभूत संरचना को वित्तीय मदद पहुंचाने के लिए भारत में विशेष परियोजना लागू करना चाहता हूं, जिससे हमारे बीच संपर्क और व्यापार को बढ़ावा मिलेगा।” Also Read - मार्केट इंटरवेंशन स्कीम के विस्तार को मंजूरी, मोदी सरकार के फैसले से जम्मू-कश्मीर के सेब उत्पादकों की बढ़ेगी कमाई

मोदी के मुताबिक आधारभूत संरचना दक्षेस राष्ट्रों का सबसे कमजोर पक्ष और सबसे बड़ी जरूरत है। उन्होंने भारत-नेपाल सड़क मार्ग के बुनियादी ढांचे का वर्णन करते हुए कहा, “मैं सड़क के रास्ते काठमांडू आने के बारे में सोच रहा था, तो कई अधिकारी चिंता में पड़ गए। सीमा पर सड़कों की हालत इतनी खराब है।” Also Read - कोरोना से लड़ने में PM मोदी की अपील को मंत्र बनाएं देश के लोग: अमित शाह

मोदी ने कहा कि वह आसान व्यापार की अपनी अवधारणा को पूरे दक्षेस क्षेत्र में लागू करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि सीमा पर भारतीय सुविधाएं कम नहीं होंगी बल्कि उनमें तेजी से सुधार किया जाएगा। मोदी ने कहा, “हम मिलकर अपनी प्रक्रिया को सरल बनाएं, सुविधाओं को बेहतर करें, एक समान मानक तय करें और कागजी कार्रवाइयों को आसान बनाएं।”