नई दिल्ली, 24 अप्रैल | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि अब गांवों के विकास के तरीके पर विचार करने की जरूरत है। मोदी ने राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस से संबंधित सम्मेलन में कहा, “महात्मा गांधी ने कहा था कि भारत गांवों में बसता है। हमें यह सोचने की जरूरत है कि हम अपने गांवों का विकास कैसे करें।” उन्होंने कहा, “हमारे गांवों के प्रति ‘गौरव’ और ‘सम्मान’ का दृष्टिकोण होना चाहिए। हमें अपने गांवों पर गर्व महसूस करना चाहिए।” यह भी पढ़ें–मानव संसाधन भारत का सबसे मजबूत पक्ष: मोदी

मोदी ने कहा कि किसी भी गांव में बसने वाले लोग बड़े सपने देखते हैं। उन्होंने कहा, “हमें यह सोचना चाहिए कि हम अगले पांच सालों में अपने गांवों के लिए क्या उपलब्धि हासिल कर सकते हैं।” शिक्षा पर जोर देते हुए मोदी ने कहा, “बीच में स्कूल छोड़ देने के विषय में हमें चिंतित होना चाहिए। गांव में बच्चों का बीच में पढ़ाई छोड़ देना, हमारे लिए चिंता का विषय है। हर किसी को शिक्षित होना चाहिए।”