पीएम मोदी आज जी-20 सम्मेलन में भाग लेने के लिए आज चीन रवाना होंगे। इस मुलाकात में प्रधानमंत्री मोदी प्रस्तावित चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे का मुद्दा उठा सकते हैं। अब तक जो खबर सामने आ रही है उसके अनुसार पीएम मोदी चीन सीधे न जाकर पहले वियतनाम जाएंगे और फिर वहां से चीन जाएंगे। दोनों नेता जी-20 की 4-5 सितंबर को होने वाली बैठक में मिल सकते हैं। इस मुलाकात के दौरान भारत चीन को कड़ा संदेश भी दे सकता है।

एक अंग्रेजी अखबार की खबर के अनुसार पीएम मोदी चीनी राष्ट्रपति को भारत की चिंता से अवगत करा सकते हैं। इस बैठक का आयोजन चीन के हांगझाऊ में होने वाली है। सूत्रों की माने तो इस बैठक के दौरान पीएम मोदी एनएसजी मुद्दे पर भी चर्चा कर सकते हैं। तीन सितंबर को चीन रवाना होंगे। पीएम मोदी पांच सितंबर को भारत वापस आएंगे और उसी दिन वो लाओस की दो दिवसीय यात्रा पर जाएंगे। वहीं पेइचिंग प्रधानमंत्री के वियतनाम दौरे पर गहरी नजर रखेगा। यह भी पढ़ें: एक बार फिर पाकिस्तान ने दिखाया अपना असली चेहरा, भारतीय चैनलों के प्रसारण पर लगाई रोक

प्रधानमंत्री मोदी अपने पहले अधिकारिक दौरे पर आ रहे मिस्र के राष्ट्रपति जनरल अब्दुल फतह अलसिसि से विशेष मुलाकात करने के बाद वियतनाम के लिए रवाना होंगे। 15 साल बाद कोई भारतीय प्रधानमंत्री वियतनाम के दौरे पर जा रहा है।  वियतनाम के दौरे पर रक्षा, सुरक्षा और व्यापार के मुद्दों पर पीएम मोदी चर्चा करेंगे। फिलहाल पीएम मोदी के इस दौरे को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है और चीनी अखबार से लेकर कई देशो की नजरे इस पर टिकी है की भारत अपना पक्ष रखते हुए चीन से किन किन मुद्दों पर चर्चा करने वाला है।