उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव नज़दीक आ रहे हैं इसलिए आज सूबा रैलियों से गुलज़ार है। पीएम नरेंद्र मोदी ने कानपुर में विशाल परिवर्तन रैली को तो दूसरी ओर राहुल गांधी ने जौनपुर में एक रैली को संबोधित किया। पहले नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में कांग्रेस को आड़े हाथों लिया तो इसके बाद राहुल गांधी ने भी नोटबंदी के फैसले पर मोदी जी को जमकर घेरा। नरेंद्र मोदी ने इस फैसले को गरीबों के हितों वाला बताया राहुल गांधी ने इसी फैसले को गरीबों पर ‘फायर बॉम्बिंग’ करार दिया। भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टियां जानती हैं कि यह नोटबंदी का फैसला यूपी चुनाव में निर्णायक साबित होगा इसलिए दोनों नेताओं ने अपने भाषण को इसी पर केंद्रित रखा। आइए जानते हैं नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी में से कौन किस पर पड़ा भारी… (यह भी पढ़ेंः- पीएम नरेंद्र मोदी कानपुर रैली लाइव अपडेट्सः परिवर्तन रैली में लाखों समर्थकों के जुटने का दावा, नोटबंदी पर फोकस) Also Read - मिथुन चक्रवर्ती बीजेपी में शामिल होंगे! PM मोदी के साथ मंच साझा कर सकते हैं, कैलाश विजयवर्गीय से फ़ोन पर की बात

  • नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी के फैसले पर कहा कि यह फैसला कालेधन वालों को बर्बाद करने के लिए है। लेकिन राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी का लक्ष्य गरीबों से पैसा निकलवाकर बैंकों में जमा करना है। जिससे वो अपने उद्योगपति दोस्तों का कर्जा माफ कर सकें। नरेंद्र मोदी जी चाहते हैं कि आपका पैसा बैंक में रहे और इस पैसे का प्रयोग 8 लाख करोड़ रुपए का कर्ज़ माफ करने में करें। यह पैसा आपके खून-पसीने की कमाई है।
  • पहले नरेंद्र मोदी ने पहले कहा कि यह लड़ाई कालेधन के खिलाफ है। इसके बाद नकली नोटों की बात की। फिर आतंकवाद की बात की। अब कैशलेस इकोनॉमी की बात कर रहे हैं। उन्हें खुद नहीं पता कि ये हो क्या रहा है? कैशलेस इकोनॉमी की बात ये है कि इससे आप पर 5 प्रतिशत का अतिरिक्त भार पड़ेगा।
  • नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारी सारी योजनाएँ गरीबों के लिए लेकर आते हैं। राहुल ने कहा कि ढाई सालों में किसानों का कर्जा माफ, बिजली बिल हॉफ और अनाज के सही दाम क्यों नहीं दे पाए। राहुल ने कहा मोदी जी अमीर लोगों का कर्जा माफ करते हैं लेकिन हिंदुस्तान के गरीब का कर्जा माफ नहीं करते हैं, इस बात का उन्होने जवाब नहीं दिया।
  • नरेंद्र मोदी ने कहा कि नोटबंदी के फैसले के बाद अमीर रो रहे हैं। गरीबों से विनती कर रहे हैं कि उनका पैसा सफेद कर दें। इधर राहुल गांधी ने कहा कि मोदी जी अच्छे से मालूम है कि काला धन जमीन सोने और विदेशी बैंको में है। क्योंकि उन्होने चुनाव के दौरान कहा था कि काला धन विदेशी बैंकों में जमा है औऱ मै उसको ले आउंगा। लेकिन कुछ नही किया उन्होनें। स्विस बैंक ने काला धन रखने वालों की लिस्ट मोदी जी को पकड़ा दिया है लेकिन मोदी जी कुछ क्यों नहीं करते हैं।
Also Read - देश की आजादी के 75वें वर्ष को मनाने के लिए पीएम मोदी की अध्यक्षता में समिति गठित, सोनिया, ममता और मुलायम सिंह भी शामिल

Also Read - राहुल गांधी ने अनुराग कश्‍यप और तापसी पन्‍नू पर IT Raid को लेकर सरकार पर कसा तंज