नई दिल्ली: जम्मू एवं कश्मीर प्रशासन ने नेशनल कान्फ्रेंस (नेका) नेताओं के शिष्टमंडल को पार्टी अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला और उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला से मिलने के लिए रविवार को जम्मू क्षेत्र से श्रीनगर जाने की इजाजत दे दी. अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पूर्व मुख्यमंत्री पिता-पुत्र नजरबंद हैं.

 

नेका नेताओं का 15 सदस्यीय शिष्टमंडल जम्मू प्रांतीय अध्यक्ष देवेंद्र सिंह राणा के नेतृत्व में रविवार को नजरबंद पिता-पुत्र से मिलेगा. 81 वर्षीय फारूक अब्दुल्ला श्रीनगर स्थित अपने आवास पर नजरबंद हैं, जबकि उमर अब्दुल्ला को स्टेट गेस्ट हाउस में हिरासत में रखा गया है. पार्टी प्रवक्ता मदन मंटू ने कहा कि शिष्टमंडल में पार्टी के कई पूर्व विधायक हैं. ये रविवार की सुबह इंडिगो विमान से जम्मू से रवाना होंगे.

राज्यपाल ने दी अनुमति
उन्होंने आगे कहा कि शिष्टमंडल राज्यपाल सत्यपाल मलिक से मिला था और उनसे पार्टी के दोनों वरिष्ठ नेताओं से मिलने की अनुमति मांगी थी, राज्यपाल ने अनुमति दे दी.