नई दिल्ली: आज पूरा देश राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस मना रहा है. आज के दिन के माध्यम से भारत दुनिया भर में अपनी विज्ञान की ओर बढ़त और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में हुई उन्नति को दर्शाता है. 11 मई का दिन देश की जनता के साथ साथ देश भर के वैज्ञानिकों के लिए गौरव का दिन हैं. पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस पर पूरे देश को बधाई दी है. Also Read - पीएम मोदी ने श्रीलंका के राष्ट्रपति और मॉरीशस के प्रधानमंत्री से की बात, बोले, संकट में साथ खड़ा है भारत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके कहा कि राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस पर देश उन सभी लोगों को सलाम करता है और बधाई देता है जो लोग राष्ट्र के विकास के लिए प्रौद्योगिकी का प्रयोग कर रहे हैं. Also Read - ‘लोकल से ग्लोबल’ थीम पर आधारित होगा ‘हुनर हाट’, सितंबर में किया जाएगा आयोजन : नकवी

पीएम मोदी ने कहा कि 1998 में आज का दिन हमारे वैज्ञानिकों की असाधारण प्रतिभा को सामने लेकर आया था. उन्होंने कहा कि यह दिन एक ऐतिहासिक दिन था भारत के लिए.

आपको बता दें कि 1998 में आज के ही दिन पोखरण (राजस्थान) में सफल परमाणु परीक्षण करने के बाद भारत यह उपलब्धि हासिल कर परमाणु क्लब में शामिल होने वाला छठा देश बना था. भारत ने इसी दिन स्वदेश निर्मित हंस-3 एयरक्राफ्ट और शॉर्ट-रेंज मिसाइल ‘त्रिशूल’ का भी सफल परीक्षण किया था जो कि देश  के लिए एक कीर्तिमान साबित हुआ.

पीएम मोदी ने कहा कि इस समय भारत सहित पूरी दुनिया कोरोना वायरस के संकट से जूझ रही है और इस लड़ाई में भी प्रौद्योगिकी एक महत्वपूर्ण हथियार है. उन्होंने कहा कि मैं उन लोगों के प्रति भी आभार प्रकट करता हूं जो लोग इस लड़ाई में टेक्नॉलजी के माध्यम से नए नए ऐसे तरीके खोज रहे हैं जो कोरोना को हराने में अहम साबित हो रहे हैं.