Nationwide Chakka Jam Latest News: देश की राजधानी दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर बीते 2 महीने से ज्यादा समय से किसानों का प्रदर्शन जारी है. किसान केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों (New Farm Laws 2020) का विरोध कर रहे हैं. किसानों की मांग है कि सरकार इन कानूनों को जल्द से जल्द निरस्त करें. उधर, सरकार और किसानों के बीच कई दौर की बातचीत के बाद भी इस पर सहमति नहीं बन सकी. सरकार इन कानूनों में संशोधन को तैयार है, लेकिन इसे निरस्त करने से इनकार कर चुकी है. Also Read - Kisan Andolan: राकेश टिकैत ने फिर दी चेतावनी! कानून वापस नहीं हुआ तो संसद का करेंगे घेराव, इस बार 4 लाख नहीं बल्कि...

इन सबके बीच बीच किसानों ने शनिवार यानी 6 फरवरी को देशभर में चक्का जाम (Chakka Jam Time) का ऐलान किया है. इसे लेकर किसान संगठनों ने शुक्रवार को कहा कि दिल्ली, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड को छोड़कर पूरे देश में राजमार्गों पर चक्का जाम करेंगे. Also Read - Republic Day Violence: अदालत ने दीप सिद्धू को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा, ‘कल (6 फरवरी) सिर्फ 2 राज्यों में चक्का जाम नहीं होगा. ये 2 राज्य हैं- उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड हैं. इन 2 राज्यों और दिल्ली को छोड़कर पूरे देश में चक्का जाम होगा. इन दोनों राज्यों में जिला मुख्यालय पर किसान कृषि कानूनों के विरोध में केवल ज्ञापन दिए जाएंगे.

इन दोनों राज्यों में चक्का जाम टालने को लेकर राकेश टिकैत ने कहा कि इन दोनों जगहों को लोगों को स्टैंडबाय पर रखा गया है और उन्हें कभी भी दिल्ली बुलाया जा सकता है. इसलिए यूपी-उत्तराखंड के लोग अपने ट्रैक्टरों में तेल-पानी डालकर तैयार रहें. उन्होंने कहा कि अन्य सभी जगहों पर तय योजना के अनुसार शांतिपूर्ण ढंग से काम होगा.

वहीं, दिल्ली में चक्का जाम टालने के बारे में पूछे जाने पर टिकैत ने कहा कि दिल्ली में तो पहले से चक्का जाम है, इसलिए दिल्ली को इस जाम में शामिल नहीं किया गया है.

उधर, किसान नेता दर्शनपाल सिंह ने कहा कि हम कल दिल्ली में चक्का जाम नहीं कर रहे हैं. हम सभी बार्डरों पर शांतिपूर्ण तरह से बैठेंगे. उन्होंने कहा कि दोपहर 12 से 3 बजे तक ही चक्का जाम रहेगा.

(इनपुट: ANI)