मुंबई: शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के बृहस्पतिवार शाम महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने की तैयारियों के बीच राकांपा सांसद सुप्रिया सुले भावुक हो गईं और कहा कि शिवसेना प्रमुख के पिता दिवंगत बाल ठाकरे और मां मीनाताई ठाकरे को आज के दिन मौजूद रहना चाहिए था. राकांपा प्रमुख शरद पवार की बेटी सुले ने कहा कि बाल ठाकरे और उनकी पत्नी ने उन्हें “बेटी से ज्यादा” प्रेम एवं स्नेह दिया और कहा कि वह उन्हें बहुत याद करती हैं.

राजनीतिक मोर्चे पर एक दूसरे की तीखी आलोचना करते रहे पवार और बाल ठाकरे के बीच इस मोर्चे से इतर अच्छे संबंध थे. शिवसेना कभी महाराष्ट्र में विरोधी रही, राकांपा और कांग्रेस के साथ मिल कर सरकार बना रही है.

शिवसेना भवन के बाहर लगे इंदिरा गांधी और बाला साहेब ठाकरे के पोस्टर, देखें तस्वीर

सुले ने ट्वीट किया, “मा साहेब और बाला साहेब- आज आपकी बहुत याद आ रही है. आज आप दोनों को यहां होना चाहिए था. उन्होंने मुझे एक बेटी से ज्यादा प्रेम एवं स्नेह दिया. मेरी जिंदगी में उनकी भूमिका हमेशा से खास एवं यादगार रहेगी.”

मीनाताई ठाकरे को ‘मा साहेब’ के तौर पर भी जाना जाता है. 2006 में, शिवसेना के तत्कालीन अध्यक्ष बाल ठाकरे ने पार्टी के किसी प्रत्याशी को मैदान में नहीं उतारा था जब पवार ने सुले को राज्यसभा की सीट के लिए राकांपा प्रत्याशी के तौर पर उतारने की घोषणा की थी.