मुंबई: निलंबित सांसदों के समर्थन में एक दिन के उपवास की घोषणा करते हुए, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पवार ने मंगलवार को कहा कि कृषि बिलों को पास कराने के लिए सरकार इतनी जल्दबाजी में क्यों थी. पवार ने मुंबई में मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए कहा, “मैंने प्रदर्शन कर रहे सांसदों के समर्थन में एक दिन उपवास रखने का फैसला किया है.” Also Read - महाराष्ट्र भाजपा में 'बगावत', खडसे के बाद एक और दिग्गज नेता शरद पवार की शरण में?

पवार ने कहा कि सरकार की नीयत भले ही सही हो, लेकिन उन्होंने कभी भी इस तरह से बिलों को पास होते नहीं देखा. बिल पास कराने में जल्दबाजी दिखाई गई, ऐसा तब हुआ जब सांसद कृषि बिलों को लेकर सवाल उठा रहे थे. Also Read - दिवाली से पहले केंद्र सरकार करेगी तीसरे राहत पैकेज का ऐलान! नौकरियों की आएगी बहार

पवार ने कहा, “सदस्य बिलों पर ज्यादा प्रश्न पूछना चाहते थे. ऐसा लगा रहा था कि वे चर्चा करना नहीं चाहते थे. जब सांसदों को जवाब नहीं मिला तो वे सदन की वेल में पहुंच गए.” राकांपा प्रमुख ने कहा, “राज्यसभा के उपसभापति नियमों से परे नहीं है और राज्यसभा के सदस्यों को उनके विचार प्रकट करने के लिए निलंबित किया गया है.’ Also Read - महाराष्ट्र के डिप्टी CM अजीत पवार कोरोना वायरस से संक्रमित, मुंबई के अस्पताल में कराया गया भर्ती