नई दिल्ली: राष्ट्रीय महिला आयोग ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के संदर्भ में ‘अपमानजनक’ टिप्पणी करने को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है. गांधी को गुरुवार को जारी नोटिस में आयोग ने मीडिया में आई खबरों का हवाला देते हुए कहा कि यह बयान ‘नारी विरोधी, आक्रामक, अनैतिक और अपमानजनक’ है.

आयोग ने गांधी की टिप्पणी की निंदा करते हुए कहा कि वह अपने ‘गैरजिम्मेदाराना’ बयान को लेकर संतोषजनक स्पष्टीकरण दें. दरअसल, कांग्रेस अध्यक्ष ने राजस्थान में बुधवार को एक रैली में राफेल मामले का हवाला देते हुए कहा था, ”56 इंच का सीना रखने वाला चौकीदार भाग गया और एक महिला सीतारमण जी से कहा कि मेरा बचाव कीजिए. मैं अपना बचाव नहीं कर सकता, मेरा बचाव कीजिए.” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांधी के इस बयान को सभी महिलाओं का अपमान करार दिया है.

बुधवार को प्रधानमंत्री ने आगरा में कहा था कि दो तीन दिन पहले आप लोगों ने संसद में देखा होगा. हमें गर्व है कि हमारे देश की बेटी, जो पहली बार देश की रक्षा मंत्री बनी हैं और पहली बार एक नारी सवा सौ करोड़ देशवासियों की रक्षा की बागडोर संभाल रही है. हमारी रक्षा मंत्री ने संसद में विरोधी दल के नेताओं के छक्के छुड़ा दिए. उनके सारे झूठ को बेनकाब कर दिया. आपने देखा उनकी आंखें फटी की फटी रह गई थीं और हमारी रक्षा मंत्री एक के बाद एक तथ्य को संसद पटल पर रख रही थीं.”

प्रधानमंत्री ने कहा, वे (विरोधी दल) ऐसा बौखला गए हैं कि वो एक नारी का अपमान करने पर तुले हैं. एक महिला रक्षा मंत्री का अपमान करने पर तुले हैं . ये रक्षा मंत्री का नहीं, बल्कि ये पूरे हिन्दुस्तान की नारी शक्ति का अपमान है, जिसकी कीमत इन गैर जिम्मेदार नेताओं को चुकानी होगी.”