नई दिल्ली: NEET-JEE की परीक्षाओं के मद्देनजर देश में विपक्ष व छात्र समूह सरकार के खिलाफ नजर आ रहे हैं. ऐसे में दो धड़े एक बार फिर देखने को मिल रहे हैं. कुछ लोगों का मानना है कि परीक्षा में और देर नहीं करनी चाहिए. वहीं कुछ लोगों का मानना है कि महामारी के समय बच्चों को सुरक्षित रखना जरूरी है. अगर वह सुरक्षित रहेंगे तभी आगे की परीक्षा दे सकेंगे. इस बाबत पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार को परीक्षाओं के मद्देनजर सुझाव दिया है. Also Read - Covid 19 Update: देश में 57 लाख के पार पहुंची संक्रमितों की संख्या, कोरोना के आंकड़ों में अब होने लगी गिरावट

अमरिंदर सिंह ने कहा कि NEET और JEE परीक्षाओं का आयोजन ऑनलाइन कराया जा सकता है. उन्होंने कहा कि उनके हिसाब से भारत सरकार भी इस बात पर सहमत होगी साथ ही पूरी दुनिया इस समय ऑनलाइन परीक्षा व क्लासेस ले रही है. ऐसे में भारत में हम ऐसा क्यों नहीं कर सकते हैं. बता दें कि इस परीक्षा के आयोजन के मद्देनजर 28 अगस्त को कांग्रेस देशव्यापी प्रदर्शन करने वाली है. Also Read - पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने केंद्र सरकार से की यह खास मांग, बोले- सरकार देश के भविष्य की चिंता करे

यह प्रदर्शन केंद्र सरकार के दफ्तरों के बाहर और राज्य व जिला मुख्यालयों के बाहर की जाएगी. साथ ही इस परीक्षा के खिलाफ कांग्रेस ऑनलाइन मुहीम भी चलाएगी. #SpeakUpForStudentSaftey के नाम से कांग्रेस यह कैंपेन चलाएगी. बता दें कि इससे पहले दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और भी अन्य नेता इस परीक्षा के कोरोनाकाल में आयोजन को लेकर चिंता जाहिर कर चुके हैं. मनीष सिसोदिया का कहना है कि या तो सरकार परीक्षा को रद्द करे या फिर कोई दूसरा विकल्प तलाशे. Also Read - Covid 19 Vaccine: वैक्सीन निर्माण के फेज-3 में पहुंची यह कंपनी, 60,000 लोगों पर किया जाएगा ट्रायल