भारत बायोटेक (Bharat Biotech) द्वारा विकसित कोवैक्सीन (Covaxin) टीका ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए स्वरूप से बचाव में भी कारगर है. टीका से जुड़ी एक समीक्षा रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी गई है. ‘बायोआरएक्सिव्स’ द्वारा प्रकाशन पूर्व समीक्षा रिपोर्ट में टीके के बारे में बताया गया है. न्यूयॉर्क में एक गैर लाभकारी अनुसंधान और शैक्षणिक संस्थान कोल्ड स्प्रिंग हॉर्बर लेबोरेटरी द्वारा इसे संचालित किया जाता है.Also Read - Delhi, Mumbai में घटी कोरोना की रफ्तार, कर्नाटक में बड़ी संख्‍या में आए केस, देखें अपने राज्य का अपडेट

रिपोर्ट में कहा गया कि भारत बायोटेक ने कोवैक्सीन लेने वाले 26 प्रतिभागियों से संग्रहित रक्त पर रिडक्शन न्यूट्रलाइजेशन टेस्ट (पीआरएनटी 50) किया. इसमें ब्रिटेन में मिले वायरस के नए स्वरूप और अन्य स्ट्रेन के विरुद्ध इसके कारगर रहने की जांच की गई. ‘बायोआरएक्सिव्स’ वेबसाइट पर समीक्षा में कहा गया, ‘ब्रिटेन के वायरस और हेट्रोलोगस स्ट्रेन के खिलाफ यह समान रूप से असरदार रहा.’ Also Read - कांग्रेस नेता Digvijaya Singh कोरोना वायरस से संक्रमित, खुद ट्वीट कर दी जानकारी

कोवैक्सीन पूर्ण रूप से स्वदेशी टीका है, जिसे भारत बायोटेक ने भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) और राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (NIV) के साथ तालमेल से तैयार किया है. वर्तमान में इस टीका के तीसरे चरण का परीक्षण चल रहा है और देश में राष्ट्रव्यापी टीकाकरण कार्यक्रम में स्वास्थ्यकर्मियों को इसकी खुराक दी जा रही है. Also Read - सावधान! स्मार्टफोन से भी फैल सकता है कोरोनावायरस, ऐसे करें सैनिटाइज और इन बातों को रखें खास ध्यान

(इनपुट: भाषा)