नई दिल्‍ली: महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर भाजपा और शिवसेना के मध्य गतिरोध और बेमौसम बारिश से फसल की बर्बादी के बीच सोमवार को दिल्‍ली पहुंचे मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की.  उन्‍होंने मीडियाकर्मियों से कहा, मैं किसी चीज या किसी व्‍यक्ति पर कमेंट नहीं करना चाहता हूं जो नई सरकार गठन के लिए कह रहे हैं. मैं सभी से यही कहना चाहता हूं कि नई सरकार जल्‍द बन जाएगी. मुझे भरोसा है.

बता दें कि महाराष्ट्र की मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल 9 नवंबर को खत्म हो जाएगा. महाराष्ट्र की 288 सदस्यीय विधानसभा के लिए हुए चुनाव में 24 अक्टूबर को आए नजीतों में बीजेपी को 105 सीटों पर जीत मिली है, जबकि शिवसेना ने 56 सीटों पर जीत हासिल की. एनसीपी ने 54 सीटें जीतीं और कांग्रेस के खाते में 44 सीटें आई हैं. 288 सदस्यीय विधानसभा में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला. गठबंधन कर चुनाव लड़ने वाली बीजेपी और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर खींचतान चल रही है.

सूत्रों के मुताबिक, फडणवीस ने केंद्रीय मंत्री शाह से मुलाकात के दौरान बेमौसम बारिश से प्रभावित राज्य के किसानों को राष्ट्रीय आपदा राहत कोष से मदद दिलाने पर चर्चा की है. उन्‍होंने इस संबंध में एक एक रिपोर्ट भी शाह को सौंपी है.

राज्य सरकार ने प्रभावित किसानों को 10 हजार करोड़ रुपए का राहत पैकेज देने का ऐलान किया है, हालांकि, भाजपा की सहयोगी शिवसेना के साथ साथ कांग्रेस और एनसीपी ने भी इस पैकेज को अपर्याप्त बताया है. राज्य सरकार ने कहा है कि बेमौसम बारिश से 52.44 लाख हेक्टेयर जमीन पर फसल बर्बाद हुई है.

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर चल रही खींचतान के बीच शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने सोमवार को पार्टी
अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के साथ अपनी एक तस्वीर ट्वीट करते हुए संदेश लिखा, लक्ष्य तक पहुंचने से पहले सफर में मजा आता है.

शिवसेना के राज्यसभा सदस्य राउत ने अपने ट्विटर हैंडल पर हिंदी में संदेश पोस्ट किया “लक्ष्य तक पहुंचने से पहले सफर में मजा आता है.” राउत ने पोस्ट में अपने फालोअर्स का अभिवादन जय हिंद के नारे के साथ किया है. राउत का सोमवार की शाम राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात का कार्यक्रम है. यह बैठक ऐसे समय हो रही है जब एक दिन पहले ही राज्यसभा सदस्य
राउत ने दावा किया था कि जल्द ही 170 विधायकों के समर्थन से उनकी पार्टी का मुख्यमंत्री होगा.