New Year 2021: देश में जारी कोरोना संकट का असर नए साल के जश्न पर भी पड़ा. कोरोना के कहर को देखते हुए दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु समेत देश के कई बड़े शहरों में नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) लगाया गया है. नाइट कर्फ्यू की वजह से नए साल का जश्न इस बार फीका रहा. नए साल की पूर्व संध्या पर आमतौर पर जश्न का माहौल रहता था. लोग घर से बाहर निकलकर नए साल का स्वागत करते थे, लेकिन इस बार लोग घर में ही रहना पसंद कर रहे हैं.Also Read - Covid Pandemic Lockdown: भारत में कोरोना की तीसरी लहर के बीच Lock Down की आशंका!

नए साल पर होने वाली भीड़ को देखते हुए दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने 31 दिसंबर और 1 जनवरी को रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लगा दिया. दिल्ली के मुख्य सचिव एवं दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) अध्यक्ष विजय देव द्वारा जारी आदेश के अनुसार, नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) 31 दिसंबर रात 11 बजे से एक जनवरी सुबह छह बजे तक और एक जनवरी रात की 11 बजे से 2 जनवरी सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा. Also Read - Night Curfew: जम्मू-कश्मीर में अगले आदेश तक जारी रहेगा नाइट कर्फ्यू, इस समय के दौरान बाहर न निकले

आदेश में कहा गया है कि नाइट कर्फ्यू के दौरान सार्वजनिक स्थलों पर 5 से अधिक लोगों के एकत्र होने की अनुमति नहीं होगी. कोविड-19 के मद्देनजर बड़ी संख्या में लोगों को एकत्र होने से रोकने के लिए यह फैसला किया गया है. Also Read - Andhra Pradesh Night Curfew: आंध्र प्रदेश में अब इस तारीख से लगेगा नाइट कर्फ्यू, जारी हुआ संशोधित गाइडलाइंस

गृह मंत्रालय ने भी जारी किया था परामर्श
गृह मंत्रालय ने 28 दिसंबर को राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को परामर्श जारी कर कहा था कि वे स्थानीय स्तर पर प्रतिबंध लगा सकते हैं, जिनमें नाइट कर्फ्यू लागू करना भी शामिल है. मंत्रालय ने कहा था कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए स्थिति का आकलन कर वे ऐसा कर सकते हैं.

दिल्ली में नाइट कर्फ्यू की घोषणा ने नववर्ष का जश्न मनाने और 2021 का स्वागत करने के लिए दोस्तों व अपने परिजनों के साथ गुरुवार देर शाम कहीं बाहर जाना चाह रहे लोगों की योजनाओं पर पानी फेर दिया और लोगों के जश्न को फीका कर दिया. घोषणा के तुरंत बाद लोग होटल और रेस्तरां की बुकिंग रद्द कराने लगे. शहर के कई होटलों और रेस्तरां व अन्य प्रतिष्ठानों ने मध्य रात्रि के इस जश्न लिए बुकिंग ली थी और नए साल के जश्न के लिए सभी तैयारियां शुरू भी कर दी थी, लेकिन कर्फ्यू की घोषणा के बाद कार्यक्रम तेजी से रद्द किये जाने लगे. दिल्ली का दिल कहे जाने वाले कनॉट प्लेस और इंडिया गेट जैसे सार्वजनिक स्थानों पर रात के कर्फ्यू की घोषणा के बाद एकत्र होने की अनुमति नहीं है.

महाराष्ट्र में भी कर्फ्यू
महाराष्ट्र सरकार ने कोविड-19 महामारी के मद्देनजर रात 11 बजे से सुबह छह बजे तक रात्रि कर्फ्यू लगाया है. साथ ही, पांच या इससे ज्यादा लोगों के एक जगह जमा होने पर पाबंदी है. मुंबई पुलिस प्रवक्ता एस चैतन्य ने कहा, ‘सार्वजनिक स्थानों पर पांच से ज्यादा लोगों को जमा होने की अनुमति नहीं दी जाएगी. रात में 11 बजे के बाद होटल, बार, पब या रेस्तरां में पार्टी करने की इजाजत नहीं होगी.’ शहर में निर्धारित समय के बाद ‘बोट पार्टी’ या छत पर पार्टी की अनुमति नहीं होगी. आदेश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सीआरपीसी की धारा 144 के तहत कार्रवाई की जाएगी.

अधिकारी ने बताया कि नववर्ष की पूर्व संध्या पर किसी भी अप्रिय घटना की आशंका को देखते हुए और कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए मुंबई की सड़कों पर करीब 35,000 पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाएगा.

बेंगलुरु में धारा 144
कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में भी इस बार नववर्ष समारोहों का उत्साह फीका रहा. दरअसल, शहर में धारा 144 लगा दी गई है. बेंगलुरु पुलिस ने गुरुवार शाम 6 बजे से शुक्रवार सुबह 6 बजे तक के लिए धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू की है.

इस तरह, इस बार एमजी रोड, चर्च स्ट्रीट, ब्रिगेड रोड, कोरमंगला और इंदिरानगर में बड़े समारोह देखने को नहीं मिले. ये स्थान नववर्ष पर बड़े एवं भव्य आयोजनों के लिये जाने जाते रहे हैं. चेन्नई में भी कोई सार्वजनिक समारोह देखने को नहीं मिला, क्योंकि तमिलनाडु सरकार ने रेस्तरां, होटल, क्लब और बीच रिजॉर्ट सहित अन्य तरह के रिजॉर्ट में ऐसे समारोहों को गुरुवार और शुक्रवार को प्रतिबंधित कर दिया था. इसके साथ-साथ लोकप्रिय मरीना बीच पर पुलिस ने लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया था.

ओडिशा में भी पाबंदी
ओडिशा सरकार ने कोविड-19 के मद्देनजर नव वर्ष के मौके पर लोगों के बड़े पैमाने पर जमा होने से रोकने के लिए गुरुवार रात 10 बजे से कर्फ्यू लगा दिया. विशेष राहत आयुक्त (एसआरसी) पीके जेना ने बताया कि यह पाबंदी शुक्रवार सुबह पांच बजे तक लागू रहेगी. एसआरसी ने ट्वीट कर बताया, ‘ओडिशा सरकार पूरे राज्य में रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू लगा रही है. आम लोगों से सहयोग करने का अनुरोध किया जाता है. सभी आवश्यक सेवाओं और जरूरी परिचालन को कर्फ्यू के दौरान अनुमति होगी.’

(इनपुट: भाषा)