श्रीनगर: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने पिछले साल पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आत्मघाती हमले के सिलसिले में मंगलवार को एक व्यक्ति और उसकी बेटी को गिरफ्तार किया. फरवरी 2019 में हुए आतंकवादी हमले में अर्धसैनिक बल के 40 जवान मारे गए थे. अधिकारियों ने बताया कि पिता-पुत्री की पहचान पीर तारिक और इंशा के रूप में हुई है. दोनों को हिरासत में लेने के लिए जम्मू लाया गया है. Also Read - जम्मू कश्मीर: पाकिस्तान से आया संदिग्ध कबूतर पकड़ा गया, कूट भाषा में लिखे संदेश को समझने की कोशिश कर रहे अधिकारी

पिछले साल 14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले की जांच एनआईए कर रही है. हमले में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी आदिल अहमद डार ने विस्फोटक से लदी अपनी कार से सीआरपीएफ के काफिले को टक्कर मार दी थी. हमले में 40 जवान मारे गए थे. Also Read - जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में एनकाउंटर, सुरक्षाबलों ने ढेर किए दो आतंकवादी

आदिल का अंतिम वीडियो आतंकवादी हमले के बाद पाकिस्तान से जैश-ए-मोहम्मद ने जारी किया था. वीडियो दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के हदकीपोरा स्थित इनके आवास पर बनाया गया था. Also Read - कश्‍मीर में लगातार दूसरे दिन आतंकी हमला: पुलवामा में CRPF- Police टीम का एक जवान शहीद, एक घायल

(इनपुट भाषा)