नई दिल्ली/श्रीनगर: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने बुधवार को कहा कि उसने पुलवामा आतंकवादी हमले व आतंकी फंडिंग के संबंध में जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) आतंकवादियों व अलगाववादी नेताओं के 11 ठिकानों पर छापे मारे. दिल्ली में एनआईए के एक प्रवक्ता ने कहा कि जिन लोगों के घरों की तलाशी ली गई, उनमें जेईएम के मुदस्सिर अहमद खान व सज्जाद भट शामिल हैं.Also Read - Kishtwar cloudburst Update: अब तक 7 शव मिले, 19 लोग लापता, 17 घायल

एजेंसी ने कहा कि भट ने जेईएम के आत्मघाती हमलावर आदिल अहमद डार को अपनी मारुति इको कार मुहैया कराई थी. डार ने 14 फरवरी के आत्मघाती हमले को अंजाम दिया, जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए. अधिकारी ने कहा कि दक्षिण कश्मीर के त्राल, अवंतीपोरा व पुलवामा इलाकों में जेईएम के सक्रिय कार्यकर्ताओं के घरों की भी तलाशी ली गई, जिसमें डायरी व आपत्तिजनक सामग्री जब्त की गई. Also Read - पिछले दो साल में जम्मू कश्मीर में आतंकी घटनाएं बढीं या कम हुईं? सरकार ने बताया

एनआईए ने पुलवामा आतंकवादी हमले की जांच के लिए 20 फरवरी को एक मामला दर्ज किया. एनआईए ने मई 2017 में दर्ज किए गए आतंकी फंडिग के एक मामले के संबंध में दक्षिण कश्मीर के तीन अलगाववादी नेताओं के घरों की भी तलाशी ली. इन नेताओं में मोहम्मद शबान डार, शौकत मौलवी व यास्मीन रजा शामिल हैं.
एनआईए ने कहा, “हमने घरों से आतंकवादी फंडिंग, कोडेड संदेश व जिहादी साहित्य से जुड़े दस्तावेज जब्त किए.” इसमें पुलिस व केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने एनआईए को सहयोग किया. Also Read - Jammu & Kashmir: किश्तवाड़ में बादल फटने से 40 से अधिक लोग लापता, 4 लोगों की हुई मौत

इसी तरह की छापेमारी मंगलवार को भी सात जगहों पर की गई. इसमें अलगाववादी नेताओं यासीन मलिक, शब्बीर शाह, मीरवाइज उमर फारूक, मोहम्मद अशरफ खान, मसरत आलम, जफर अकबर भट व नसीम गिलानी के आवास शामिल हैं.