नई दिल्ली/तिरुवनंतपुरम: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने इस्लामिक स्टेट (आईएस) के एक मॉड्यूल का पता लगाने के सिलसिले में रविवार को केरल में तीन स्थानों पर छापे मारे. राज्य की पुलिस ने कहा है कि एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया गया है. एनआईए ने कहा कि वह आईएस के एक मॉड्यूल की जांच कर रही है.

 

एनआईए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने राष्ट्रीय राजधानी में कहा कि एजेंसी ने तीन संदिग्धों के आवासीय परिसरों पर छापे मारे. इसमें से दो स्थान कासरगोड और एक पलक्कड़ में है. अधिकारी ने कहा कि एजेंसी को खुफिया जानकारी मिली कि तीन लोगों के संबंध कथित तौर पर उन कुछ संदिग्धों से हैं, जो आईएस में शामिल होने के लिए भारत से भाग चुके हैं. इसी जानकारी के आधार पर छापे मारे गए. तिरुवनंतपुरम में केरल पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि एनआईए ने एक व्यक्ति को पलक्कड़ से हिरासत में लिया है. यह जिला तमिलनाडु की सीमा से लगा हुआ है.

एनआईए की वॉन्टेड लिस्ट में पाकिस्तानी डिप्लोमेट का नाम, फोटो जारी

कोलेनगोड पुलिस ने एनआई से संपर्क कर मांगी सुरक्षा
कोलेनगोड पुलिस थाने के एक अधिकारी ने कहा कि एनआईए ने उनसे संपर्क किया और सुरक्षा मांगी. अधिकारी ने कहा कि हम उनके साथ हैं और उन्होंने एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है. उसे हिरासत में लेने के बाद वे कोच्चि लौट गए. कासरगोड में भी एनआईए अधिकारियों ने दो लोगों को नोटिस जारी किया है, और उन्हें सोमवार को कोच्चि स्थित एनआईए के कार्यालय में उपस्थित होने के लिए कहा है. दोनों की पहचान अबुबकर और अहमद के रूप में हुई है.

कश्मीरी अलगाववादी नेता यासीन मलिक को लाया गया तिहाड़ जेल, NIA करेगी पूछताछ

एनआईए ने जब्‍त किए ये सामान
नई दिल्ली में एनआईए ने कहा कि उसने मोबाइल फोन, सिम कार्ड, मेमोरी कार्ड, पेन ड्राइव, अरबी और मलयालम में हाथ से लिखी डायरी, जाकिर नाईक की डीवीडी के अलावा अन्य डीवीडी जब्त किए हैं. एनआईए के अनुसार, साजिश के हिस्से के रूप में कासरगोड के 14 आरोपी 2016 में मई और जुलाई के बीच भारत या फिर मध्यपूर्व में अपने कार्यस्थलों को छोड़कर अफगानिस्तान या सीरिया चले गए, जहां वे आईएस में शामिल हो गए. (इनपुट एजेंसी)