Assam Lockdown News: कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए असम सरकार ने एक मई तक नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया है. ये नाइट कर्फ्यू रात आठ बजे से सुबह पांच बजे तक जारी रहेगा. इसके साथ ही असम के कामरूप महानगर जिला ने आदेश दिया है कि कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच 11 मई तक सभी शैक्षणिक संस्थान बंद रहेंगे.  बता दें कि असम सरकार ने पिछले मंगलवार को ही राज्य में सख्त आदेश जारी किए थे जिसमें सभी दुकानों को शाम के छह बजे बंद करने के आदेश दिए गए थे.Also Read - इराक में फिर उठा रेतीला बवंडर: 4000 लोग हुए बीमार, स्कूल-कॉलेज-दफ्तर कराए गए बंद, दिखा अद्भुत नजारा..

Also Read - School Closed : पश्‍च‍िम बंगाल के स्‍कूलों में समय से पहले हुई गर्मी की छुट्ट‍ियां, ये है बड़ी वजह

पिछले सप्ताह जारी किए गए थे गाइडलाइंस Also Read - School Closed: गर्म हवाओं के कारण 30 अप्रैल तक बंद रहेंगे स्‍कूल, नोटिस जारी

कोरोना संक्रमण के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर पिछले मंगलवार को ही असम सरकार ने आदेश दिया था कि सभी बाजार और दुकानें शाम छह बजे तक बंद कर दी जाएं. सरकार ने उन जिलों में, जहां एक्टिव मामलों की संख्या 100 या उससे ज्यादा है, निचले स्तर के 50 प्रतिशत कर्मियों को घर से काम करने की अनुमति रहेगी. मुख्य सचिव जिष्णु बरुआ ने नई गाइडलाइंस जारी करते हुए डिप्टी कमिश्नरों को पाबंदियों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया.

इन नए नियमों में अलग-अलग कानूनों के तहत आने वाले दंडनीय प्रावधानों को भी लागू किया गया है.बरुआ ने कहा कि नया आदेश तत्काल प्रभाव से लागू होता है और यह 30 अप्रैल तक प्रभावी रहेगा.

असम के पांच मेडिकल कॉलेजों में आठ ऑक्सीजन संयत्र स्थापित किए गए

असम (Assam) के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने रविवार को कहा कि राज्य में सरकारी अस्पतालों में आठ ऑक्सीजन संयंत्र (Oxygen Plants) लगाए गए हैं और राज्य सरकार अपने संयंत्र लगाने के लिए निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम्स की मदद करेगी. सरमा ने बताया कि राज्य में कोविड संकट आने के बाद, सरकार ने पांच मेडिकल कॉलेजों में आठ ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित किए हैं जो प्रतिदिन 5.25 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन कर रहे हैं.

उन्होंने बताया कि गौहाटी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में तीन संयंत्र लगाए गए हैं जो प्रतिदिन 2.13 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन कर रहे हैं जबकि जोरहाट मेडिकल कॉलेज अस्पताल में दो संयंत्र लगाए गए हैं जो 1.24 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन करते हैं.