Nipah Virus: केरल में निपाह वायरस से एक बच्चे की मौत के बाद आज तमिलनाडु के कोयंबटूर में निपाह वायरस के नए मरीज की पुष्टि हुई है. जिले में निपाह वायरस का एक मामला सामने के बाद जिला कलेक्टर डॉक्टर जीएस समीरन ने कहा कि हम सभी तरह की सावधानियां बरत रहे हैं, जो कोई भी सरकारी अस्पताल में तेज बुखार के साथ आता है, उसका ठीक से परीक्षण किया जाएगा.Also Read - Tamil Nadu Lockdown Update: कोयंबटूर में सोमवार से लागू होंगे नए कोविड प्रतिबंध, जानिए क्या हैं नए नियम

केरल में निपाह वायरस से एक मरीज की मौत के बाद तमिलनाडु सरकार अलर्ट है और राज्य सरकार ने 9 सीमावर्ती जिलों में पड़ोसी राज्य से आने वालों लोगों के लिए निगरानी बढ़ा दी है. Also Read - Corona Devi Temple: कोरोना देवी का मंदिर देखा आपने? लोग बोले- गंभीर बीमारी से बचाएगी देवी

रविवार को केरल के कोझिकोड जिले के एक अस्पताल में रविवार सुबह निपाह वायरस के संक्रमण से एक 12 साल के बच्चे की मौत हो गई थी. जिसके बाद केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने बताया कि राज्य में दो स्वास्थ्यकर्मियों में निपाह वायरस संक्रमण के लक्षण पाए गए हैं, ये दोनों जान गंवाने वाले बच्चे के संपर्क में आए थे. Also Read - Cyclone Tauktae Updates: केरल में मूसलाधार बारिश से सैकड़ों मकान बर्बाद, समुद्री पुल में दरार, 5 जिलों में रेड अलर्ट

तमिलनाडु सरकार ने एडवाइजरी जारी की

तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री एम सुब्रमण्यन ने कहा, “हम पहले से ही केरल के साथ लगने वाले 9 जिलों की निगरानी कर रहे रहे हैं. हम जीका वायरस के फैलने को लेकर इन जिलो में घर-घर जाकर जागरुकता अभियान चला रहे हैं. अब निपाह वायरस के खतरे को देखते हुए, हमने जिला स्वास्थ्य अधिकारियों को एडवाइजिरी जारी की है कि वे फीवर कैम्प जैसे अन्य उपाय अपनाएं.”

उन्होंने कहा कि 9 जिलों के स्वास्थ्य अधिकारी एंट्री प्वाइंट पर थर्मल स्क्रीनिंग और सैचुरेशन लेवल चेक करने के अलावा फीवर कैंप लगाएंगे.  “पहले से भी केरल से तमिलनाडु आने वाले लोगों के लिए कोविड-19 वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट या आरटी-पीसीआर निगेटिव रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य है.”

स्वास्थ्य सचिव ने कहा-लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है

वहीं स्वास्थ्य सचिव जे राधाकृष्णन ने कहा कि, “हम तमिलनाडु में प्रवेश करने वाले लोगों की लगातार निगरानी कर रहे हैं. लोगों को निपाह वायरस से घबराने की जरूरत नहीं है. लेकिन साथ ही उन्हें किसी तरह की लापरवाही नहीं दिखानी चाहिए.”