नई दिल्ली: सरकारी बैंक पीएनबी में 11400 करोड़ रुपये के घोटाले का मुख्य आरोपी हीरा कारोबारी नीरव मोदी देश से बाहर है. पीएनबी ने कहा है कि जनवरी के मध्य में उसे घोटाले की जानकारी मिली, लेकिन नीरव और उसका भाई एक जनवरी को देश से बाहर चले गए. उसकी पत्नी भी जनवरी के पहले सप्ताह में विदेश चली गई. पर ऐसा पहली बार नहीं हुआ है. इससे पहले भी ऐसे कई मामले सामने आते रहे हैं. सीबीआई, ईडी और देश की अन्य एजेंसियां लकीर पीटती रहती है. सरकार भी कड़ी कार्रवाई करने और भगोड़ों को स्वदेश लाने की बात करती रहती है, लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकलता. आइए जानते हैं देश के ऐसे ही और भगोड़ों के बारे में जो हजारों करोड़ रुपये लेकर चंपत हो गए. Also Read - IND vs AUS 2nd ODI Live Streaming: कब-कहां और कैसे देखें भारत vs ऑस्ट्रेलिया दूसरे वनडे की Online स्ट्रीमिंग और Live Telecast

Also Read - भारत की मेजबानी में 30 नवंबर को एससीओ नेताओं की बैठक में भाग लेंगे चीन के प्रधानमंत्री

विजय माल्या Also Read - Aus vs Ind, 1st ODI: नंगे पैर मैदान पर घेरा बनाकर नस्लवाद के खिलाफ विरोध दर्ज कराएगी ऑस्ट्रेलियाई टीम

लिक्वर बैरन कहलाने वाले विजय माल्या ने जब देश छोड़ा तो उस पर 9 हजार करोड़ रुपये की कर्ज बकाया था. ये राशि विभिन्न बैंकों से ली गई लोन राशि थी. किंगफिशर एयरलाइंस के दीवालिया हो जाने और लोन की रकम नहीं चुकाने की वजह से माल्या को भगोड़ा घोषित कर दिया गया. अप्रैल 2017 में माल्या को लंदन की पुलिस स्कॉटलैंड यार्ड ने गिरफ्तार किया, पर उसे जमानत मिल गई. अब 61 साल का ये बिजनेसमैन यूके में हैं. वहां वह ऐश की जिंदगी जी रहा है. भारत सरकार कानून कार्रवाई करने का दावा कर रही है लेकिन उस पर कोई असर नहीं पड़ा है.

ललित मोदी

ललित मोदी पर आईपीएल से जुड़े मनी लॉन्डिरंग, प्रॉक्सी ओनरशिप के आरोप लगे. मोदी ने 2010 में देश छोड़ दिया. 2008 में आईपीएल शुरू करने वाले मोदी को बीसीसीआई से 2010 में निकाल दिया था. वह लंदन में काफी समय से रह रहा है. भारत लौटने से मना कर चुका है. कहते हैं अंडरवर्ल्ड से जान का खतरा है.

दीपक तलवार

इनकम टैक्स विभाग ने कॉरपोरेट लॉबिस्ट दीपक तलवार पर पांच केस दर्ज किए. वो पिछले साल देश छोड़ कर भाग गया. फिलहाल यूएई में रहता है. वहां से देश छोड़ने पर मनाही है. उसके व परिवार के बैंक खातों में अचानक 10 करोड़ डॉलर आने से वो जांच एजेंसियों की नजर में आया था.

संजय भंडारी

विवादित ऑर्म डीलर संजय भंडारी की मांग भारत करता है. उस पर FEMA लॉ के उल्लंघन और OSA के उल्लंघन का मामला है. भंडारी का मामला पहली बार तब सामने आया था जब आईटी डिपार्टमेंट ने अप्रैल 2016 में उसकी तलाश शुरू की. तब उसके पास से ‘सेंसेटिव’ डिफेंस डॉक्यूमेंट्स मिले थे. भंडारी 2016 में नेपाल के माध्यम से देश छोड़कर चला गया. कहा जाता है कि भंडारी भी इसी समय लंदन में है. इन सभी के देश छोड़ने के बाद से भारत रकार इन्हें वापस लाने का प्रयास कर रही है. पर ऐसा करने में उसे अब तक सफलता नहीं मिल सकी है.