नई दिल्ली: निर्भया सामूहिक बलात्कार एवं हत्याकांड मामले में चार दोषियों को फांसी देने का रविवार को तिहाड़ जेल में अभ्यास किया गया. दिल्ली की एक अदालत ने मामले के चार दोषियों मुकेश, पवन गुप्ता, विनय शर्मा और अक्षय कुमार सिंह की मौत का वारंट मंगलवार को जारी करते हुए कहा था कि इन्हें 22 जनवरी को सुबह सात बजे तिहाड़ जेल में फांसी पर लटकाया जाएगा. Also Read - Toolkit Case: तिहाड़ से रिहा हुई दिशा रवि, कोर्ट ने जमानत देते हुए कहा था, 'सिर्फ इसलिए जेल नहीं भेजा जा सकता क्योंकि...'

जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जेल के अधिकारियों की एक टीम ने चार दोषियों को फांसी देने का अभ्यास किया. अभ्यास में दोषियों के वजन के बराबर पुआल और पत्थर से बने पुतलों को फांसी पर लटकाया गया. उन्होंने बताया कि फांसी जेल संख्या 3 में होगी. उत्तर प्रदेश कारागार अधिकारियों ने पुष्टि कर दी है कि मेरठ जेल से पवन जल्लाद को चारों दोषियों को फांसी पर लटकाने के लिए भेजा जाएगा. Also Read - शहाबुद्दीन को कोर्ट से मिले 18 घंटे, कड़ी सुरक्षा में पत्नी और बेटे से बाहुबली ने की मुलाकात

चारों दोषियों के एक साथ फांसी दिए जाने की संभावना
तिहाड़ जेल ने उतर प्रदेश कारागार विभाग को पत्र लिखकर फांसी के लिए दो जल्लाद देने की मांग की थी. चारों दोषियों के एक साथ फांसी दिए जाने की संभावना है. अधिकारियों ने बताया कि जेल अधिकारी दोषियों के साथ रोज बातचीत करते हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि उनकी मानसिक स्थिति ठीक है. Also Read - निर्भया कांड के 8 साल पूरे: देश में महिलाओं के प्रति कम नहीं हुई क्रूरता, पिता बोले- अभी लड़ाई बाकी है