Nirbhaya Gangrape and Murder Case Latest Updates: निर्भया के चारों दोषियों को फांसी की सजा दिए जाने के बाद निर्भया की मां आशा देवी ने कहा है कि आज उन्हें इंसाफ मिल गया है. तिहाड़ जेल के बाहर निर्भया की मां आशा देवी, निर्भया की मौसी सुनीता देवी और उनकी वकील सीमा कुशवाहा ने जीत का साइन दिखा सजा पर संतुष्टि जताई. हालांकि आशा देवी ने कहा कि वह आज कोई जश्न नहीं मना रही हैं, लेकिन उनके तसल्ली मिली है कि उनकी बच्ची के दरिंदों को सजा मिल गई. आशा देवी ने कहा कि मेरी बेटी ने तड़प-तड़प कर दम तोड़ा था. आज अंततः उसे इंसाफ मिला. उन्होंने कहा कि मुझे दुख है कि मैं उसे बचा नहीं पाई. Also Read - कोरोना वायरस के बारे में सही सूचना के लिये 24 घंटे में पोर्टल बनाये केन्द्र: सुप्रीम कोर्ट

इससे पहले निर्भया की मां ने कहा कि दोषियों को फांसी पर लटकाया गया है. आज हमारी बच्ची को इंसाफ मिला. पूरे देश की बच्चियों को इंसाफ मिला है. देर से ही सही लेकिन आज न्याय मिल गया. निर्भया की मां ने कहा कि आज न्यायपालिका से न्याय मिला. फांसी रुकवाने के लिए कई हथकंडे अपनाए गए. लेकिन आज चारों दोषियों को फांसी हुई और न्याय व्यवस्था पर सभी का भरोसा बढ़ा है. Also Read - Covid-19: कोरोना के चलते मजदूरों का पलायन, केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट से कहा- 23 लाख लोगों को दे रहे हैं खाना

निर्भया की मां ने कहा कि आज हमारी बच्ची अब इस दुनिया में नहीं है और वह आने वाली भी नहीं है. लेकिन मैंने देश की बच्चियों और किसी और बच्ची के साथ निर्भया जैसी घटना न हो इसके लिए यह पूरी मैंने लड़ाई लड़ी. Also Read - कोरोना के कारण मजदूरों का पलायन: कोर्ट ने तलब की रिपोर्ट, डर दहशत को बताया वायरस से भी बड़ी समस्या

आशा देवी ने कहा कि आज मुझे तसल्ली हुई कि चार दरिंदों को फांसी हुई. आशा देवी ने कहा कि उन्हें अपनी बेटी पर गर्व है. आज उनके नाम से मुझे दुनिया जानती है. आज वह होती तो मुझे एक डॉक्टर की मां के रूप में जानती. लेकिन आज मुझे निर्भया की मां के रूप में जाना जाता है. निर्भया की मां ने कहा कि अगर आपकी बच्ची के साथ भी ऐसा कुछ होता है तो आप जरूर उसका सपोर्ट करें. उसका साथ दें और पुलिस में रिपोर्ट करें. दोषियों को सजा दिलवाने के लिए अपनी बच्ची का साथ दें.