नई दिल्लीः भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर संशोधित नागरिकता कानून को लेकर लोगों को ‘‘भ्रमित’’ करने तथा राष्ट्रीय नागरिक पंजी के साथ इसकी ‘‘गलत तरीके से’’ तुलना करने का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को उनकी आलोचना की.

भारतीय जनता पार्टी की ओर से जारी बयान में सीतारमण ने प्रदर्शनकारियों से इस कानून को पढ़ने तथा जरूरत पर स्पष्टीकरण मांगने के लिए कहा . उन्होंने प्रदर्शनकारियों से यह भी कहा कि वह ऐसी ताकतों से बचें जो उन्हें ‘‘भ्रमित’’ कर रहे हैं और देश के नागरिकों के बीच ‘‘हिंसा और डर फैला रहे हैं .’’

सीतारमण ने कहा, ‘‘मैं भारत के सभी नागरिकों से अपील करती हूं कि वे इस भ्रम और डर की स्थिति में नहीं पड़ें. कांग्रेस और तृणमूल तथा आप जैसी पार्टियां और वाम दल संशोधित नागरिकता कानून एवं एनआरसी को आपस में जोड़ कर डर पैदा कर रहे हैं , जबकि एनआरसी अबतक तैयार भी नहीं हुआ है .’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं देश के प्रत्येक नागरिक से अपील करती हूं कि हताश हो चुकी कांग्रेस, तृकां, आप और वाम दल जो कर रहे हैं उससे वह प्रभावित नहीं हो .’’ भाजपा नेता ने कहा कि संशोधित नागरिकता कानून किसी भी भारतीय की नागरिकता छीनने के लिए नहीं है. उन्होंने जोर देकर कहा कि इस कानून का किसी भारतीय नागरिक से कोई लेना देना नहीं है.

उन्होंने कहा, ‘‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी संशोधित नागरिकता कानून को लेकर देश के लोगों को भ्रमित कर रही हैं और गलत तरीके से इसे एनआरसी से जोड रही हैं जबकि एनआरसी अबतक तैयार भी नहीं किया गया है .’’