जयपुर: पाकिस्तान (Pakistan) से आईं नीता कंवर राज्य में पंचायत चुनाव में अपना भाग्य आजमाएंगी. सितम्बर 2019 में भारत की नागरिकता (Citizenship if India) प्राप्त कर चुकीं कंवर टोंक जिले के नटवाडा ग्राम पंचायत से सरपंच पद का चुनाव लड़ रही हैं. उल्लेखनीय है कि नीता कंवर 2001 में पाकिस्तान के सिंध प्रांत से जोधपुर आईं.

नीता ने कहा कि ‘मैं केवल यह जानती हूं कि केवल नागरिकता कानून (Citizen Amendment Act) के जरिए भारत में अच्छा जीवन यापन करने के साथ ही अच्छी शिक्षा प्राप्त की जा सकती है. सोढा राजपूत समाज की महिला होने के नाते हम हमारी उसी जाति में शादी नहीं कर सकते. हमारा समाज भारत में रहता है और अधिकतर समाज के लोग जोधपुर में रहते हैं. मैंने 2001 में कॉलेज शिक्षा प्राप्त करने और उसके बाद सुयोग्य वर के लिए पाकिस्तान से जोधपुर आई थीं.’

कश्मीर: दर्द में थी प्रेग्नेंट शमीमा, सेना के 100 जवानों ने बर्फ में 6 घंटे चलकर पहुंचाया अस्पताल

देश के विभिन्न हिस्से में इस समय नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ विरोध चल रहा है. इस कानून से पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में रहने वाले अल्पसंख्यकों के लिए भारत में नागरिकता प्राप्त करने का मार्ग प्रशस्त होगा. नीता ने कहा कि वह भारतीय नागरिकता पाने के लिए तीन साल से संघर्ष कर रही थीं. पिछले वर्ष सितम्बर में टोंक प्रशासन ने उनकी नागरिकता की अर्जी स्वीकार ली. उन्होंने बताया,‘‘अब मैं नटवाडा सीट से सरपंच पद के लिए चुनाव लड रही हूं. यह सीट सामान्य महिला उम्मीदवार के लिये सुरक्षित है. मैं लैंगिक समानता, महिला सशक्तीकरण और गांव के विकास को बढ़ावा देने के लिए काम करूंगी.’’

नीता ने 2005 में अजमेर के सोफिया कॉलेज से कला वर्ग में स्नातक तक डिग्री प्राप्त की है और पुण्य प्रताप करण से 2011 में शादी की है. कंवर जोधपुर (Jodhpur) में बसी अपनी विवाहिता बहन अंजना के साथ भारत आई थी.