नई दिल्ली: केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी एक और बयान दिया है. इस बार उन्होंने जनता और नेताओं को लेकर कुछ ऐसा कहा है, जिसकी चर्चा हो रही है. मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ‘सपने दिखाने वाले नेता लोगों को अच्छे लगते हैं, पर दिखाए हुए सपने अगर पूरे नहीं किए तो जनता उनकी पिटाई भी करती है. इसलिए सपने वही दिखाओ जो पूरे हो सकें. मैं सपने दिखाने वाले में से नहीं हूं. मैं जो बोलता हूं वो 100 फीसदी डंके की चोट पर पूरा होता है.’ Also Read - 'राजस्थान में फिर शुरू होने वाला है सरकार गिराने का खेल', CM गहलोत बोले- हमारे विधायकों को बैठाकर चाय-नमकीन खिला रहे अमित शाह

Also Read - Hyderabad Election Result 2020: हैदराबाद नगर निगम चुनाव में बजा बीजेपी का डंका, टीआरएस को फिर मिली सत्ता

भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी, देश लूट कर भागने वाले पकड़े जाएंगे: पीएम मोदी Also Read - GHMC Eelection Results 2020 Update: पलट गए रुझान, सबसे बड़ी पार्टी बनती दिख रही TRS, तीसरे नंबर पर भाजपा!

नितिन गडकरी ने ये बयान मुंबई में दिया है. वह मुंबई में पार्टी के एक कार्यक्रम में मौजूद थे. उन्होंने इस कार्यक्रम में ही बॉलीवुड एक्ट्रेस ईशा कोप्पिकर को भारतीय जनता पार्टी जॉइन कराई है. इस दौरान कई और नेता मौजूद रहे. दामन थामते ही उन्हें बीजेपी की महिला ट्रांसपोर्ट विंग की कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया है.

‘खल्लास गर्ल’ ईशा कोप्पिकर ने थामा बीजेपी का दामन, जुड़ते ही मिली ये जिम्मेदारी

वहीं, ये पहला मौका नहीं है जब नितिन गडकरी ने अलग अंदाज में बयान दिया है. इससे पहले वह राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों में भाजपा की हार के बाद पार्टी के बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष गडकरी ने कहा था कि पार्टी के नेतृत्व को हार और असफलताओं को स्वीकार करना चाहिए. हालांकि बाद में उन्होंने उनकी बात को गलत तरीके से लिए जाने की बात कही. बीजेपी के दिग्गज नेता गडकरी देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की कुछ दिन पहले ही तारीफ़ कर चुके हैं, जबकि उनकी ही पार्टी के शीर्ष नेता अक्सर नेहरू पर निशाना साधते हैं.