नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) के पिछले कुछ दिनों में दिए गए बयानों को लेकर सियासत गर्माई हुई है. तीन राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में भाजपा की हार के बाद गडकरी ने कहा था कि शीर्ष नेतृत्व को जीत या हार, दोनों की जिम्मेदारी लेनी चाहिए. इसके बाद उन्होंने अपने एक बयान में चुनावी वादों को लेकर कहा कि नेता सपने वही दिखाएं, जिसे पूरा किया जा सकता हो, वरना जनता पीटती भी है. इसके बाद बीते दिनों केंद्रीय मंत्री ने बयान दिया कि जो व्यक्ति अपने घर की जिम्मेदारी नहीं संभाल सकता, वह देश को संभालने में सक्षम नहीं है. गडकरी के ऐसा बयान देते ही मीडिया में इसकी खूब चर्चा हुई. इन्हीं चर्चाओं के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने एक ट्वीट के जरिए नितिन गडकरी को भाजपा में सबसे हिम्मती नेता बताते हुए इस बयान के लिए उनकी तारीफ की. साथ ही राफेल, किसानों के मुद्दे आदि पर भी बयान देने को लेकर तंज किया. सोमवार को राहुल गांधी के ट्वीट के कुछ घंटों बाद नितिन गडकरी ने कांग्रेस अध्यक्ष को अपने स्टाइल में जवाब देते हुए कहा कि उन्हें हिम्मत के लिए राहुल गांधी के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है.

नितिन गडकरी ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर कांग्रेस अध्यक्ष को जवाब दिया. उन्होंने अपने पहले ट्वीट में मीडिया पर उनके बयानों को तोड़-मरोड़कर पेश किए जाने का आरोप लगाया. गडकरी ने कहा, ‘राहुल गांधीजी, मेरी हिम्मत के लिए मुझे आप के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है, लेकिन आश्चर्य इस बात का है कि एक राष्ट्रीय पार्टी के अध्यक्ष होने बाद भी हमारी सरकार पर हमला करने के लिए आपको मीडिया द्वारा टि्वस्ट किए गए खबरों का सहारा लेना पड़ रहा है.’ केंद्रीय मंत्री गडकरी ने अपने दूसरे ट्वीट में मोदी सरकार और भाजपा शासन की तारीफ की. उन्होंने कहा, ‘यही मोदी जी और हमारे सरकार की कामयाबी है कि आप को हमला करने के लिए कंधे ढूंढने पड़ रहे हैं. रही बात आपके उठाए गए मुद्दों की तो मैं डंके की चोट पर कहता हूं कि राफेल में हमारी सरकार ने देश हित सामने रख कर सबसे पारदर्शक व्यवहार किया है.’

केंद्रीय मंत्री ने राहुल गांधी को दिए अपने जवाब में कांग्रेस की सरकारों की शासनप्रणाली पर भी सवाल उठाया है. साथ ही राहुल गांधी द्वारा अन्य मुद्दों पर बयान देने संबंधी ट्वीट पर भी निशाना साधा है. गडकरी ने अपने ट्वीट में राहुल गांधी को उनकी पार्टी की नीतियों की याद दिलाते हुए कहा है, ‘आपके नीतियों ने किसानों को जिस बदतर स्थिति में खड़ा किया उससे उनको बाहर निकालने की ईमानदार कोशिश मोदीजी कर रहे हैं और हम इसमें कामयाब भी हो रहे हैं. आप समेत कुछ लोगों को मोदीजी का प्रधानमंत्री बनना सहन नहीं हो रहा इसलिए आपको असहिष्णुता व संवैधानिक संस्थाओं पर हमले का सपना आता है.’

जो अपना घर नहीं संभाल सकता, वह देश क्या संभालेगा: नितिन गडकरी

नितिन गडकरी ने कांग्रेस अध्यक्ष को जवाब देने के बहाने भाजपा के संगठन और पार्टी की कार्यप्रणाली की तारीफ भी की है. साथ ही राहुल गांधी को आने वाले दिनों में जिम्मेदारी भरा बर्ताव करने की सलाह भी दी है. गडकरी ने अपने ट्वीट में कहा है, ‘हमारे और कांग्रेस के डीएनए में यही अंतर है कि हम लोकतंत्र और संवैधानिक संस्थाओं पर विश्वास करते हैं. आपके ये पैंतरे चल नहीं रहे. मोदीजी फिर प्रधानमंत्री बनेंगे और हम मजबूती के साथ देश को आगे बढ़ाएंगे. लेकिन, आप भविष्य में समझदारी और जिम्मेदारी के साथ बर्ताव करेंगे यह उम्मीद करता हूं.’ आपको बता दें कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बीते शनिवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पूर्व कार्यकर्ताओं के एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा था कि पार्टी के कार्यकर्ताओं को पहले अपनी घरेलू जिम्मेदारियों को पूरा करना चाहिए, क्योंकि जो ऐसा नहीं कर सकता, वह ‘देश नहीं संभाल सकता.’