पटना/नई दिल्लीः बिहार में लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सीट बंटवारे को लेकर उठा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के NDA छोड़ देने के बाद लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) की नाराजगी को लेकर उन्हें मनाने का दौर चल रहा है. इस बीच, बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल (युनाइटेड) के अध्यक्ष नीतीश कुमार भी शुक्रवार शाम दिल्ली पहुंच रहे हैं. जद(यू) के वरिष्ठ नेता क़े सी़ त्यागी ने शुक्रवार को कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक वैवाहिक कार्यक्रम में शमिल होने दिल्ली आ रहे हैं. मुख्यमंत्री का यह कार्यक्रम बहुत पहले से तय था.

वैसे मीडिया रिपोर्ट्स में यह कहा जा रहा है कि गुरुवार को लोजपा नेता और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान की भाजपा नेतृत्व के साथ बातचीत हुई थी. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ एक घंटे से अधिक समय तक चली बातचीत के बाद इन दोनों नेताओं की केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेलटी के साथ बातचीत होने की संभावना है. मीडिया रिपोर्ट्स में भी नीतीश कुमार के भाजपा के नेतृत्व से मिलने की खबर चल रही है.

लोजपा के अध्यक्ष रामविलास पासवान से मुलाकात के संबंध में केसी त्यागी ने कहा कि लोजपा राजग की प्रमुख घटक दलों में से एक है, इसमें कोई शक नहीं है. उन्होंने कहा कि दिल्ली मुख्यमंत्री आ रहे हैं ऐसे में राजनीतिक बातें तो होगी ही. जद (यू) के एक नेता की मानें तो बिहार सरकार में लोजपा के पशुपति कुमार पारस मंत्री भी हैं, ऐसे में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लोजपा के अध्यक्ष रामविलास को मनाने का भी प्रयास करेंगे. उन्होंने कहा कि नीतीश वहां अगले दो-तीन दिनों तक रहेंगे और इस दौरान वे भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करेंगे. साथ ही सीट बंटवारे पर भी चर्चा होगी. उल्लेखनीय है कि लोजपा प्रमुख रामविलास, उनके बेटे चिराग पासवान गुरुवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से भी मुलाकात कर चुके हैं.