नई दिल्ली: संसद में अविश्वास प्रस्ताव पर बहस में भाग लेते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अनोखा उदाहरण पेश किया. अपना भाषण खत्म करने के ठीक बाद राहुल मोदी की सीट पर गए और उन्हें गले लगा लिया. इसे देखकर सदन में बैठे सांसद तो क्या, पूरे देश में लाइव प्रसारण देख कर आम लोग भी चौंक गए. Also Read - पटना में पीएम मोदी ने सीएम नीतीश को सराहा, इशारों में तेजस्वी को कहा 'जंगलराज का युवराज'

Also Read - प्रधानमंत्री मोदी के बचपन में चाय बेचने से लेकर दो बार पीएम बनने तक के संघर्ष को दिखाएंगे महेश ठाकुर, ऐसी होगी कहानी

राहुल ने अपने भाषण में एनडीए सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत टीडीपी सांसद जयदेव गल्ला के भाषण से की. उन्होंने आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा की चर्चा करते हुए कहा कि राज्य के साथ धोखा हुआ है, लेकिन धोखा खाने वाला आंध्र प्रदेश अकेला नहीं है. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि इस सरकार के जुमला स्ट्राइक से कई लोगों को धोखा मिला है. Also Read - Relief Package 2.0: जल्द हो सकती है दूसरे राहत पैकेज की घोषणा, आज पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे बड़ी बैठक

LIVE अविश्वास प्रस्ताव: भाषण पूरा कर राहुल ने पीएम को दी झप्पी, सब रह गए हैरान

राहुल ने कहा कि मोदी चीन से कहते हैं डोकलाम का मुद्दा नहीं उठाएंगे. लेकिन वे चीन जाते हैं और बिना एजेंडा के बात करते हैं. राहुल ने पीएम पर सैनिकों को धोखा देने का आरोप भी लगाया. उन्होंने कहा कि पीएम ने उद्योगपतियों का 2.5 लाख करोड़ का कर्ज माफ कर दिया, लेकिन किसानों की हालत पर ध्यान नहीं दे रहे. किसान हाथ जोड़कर कह रहा है कि हमारे कर्ज भी माफ कर दीजिए.

No Confidence Motion: शिवसेना-बीजद वोटिंग में नहीं लेंगी हिस्सा, बहुमत के लिए अब चाहिए 249 वोट, ये है पूरा गणित

राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि राफेल विमान सौदे के विभिन्न आयामों को लेकर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने देश से झूठ बोला. उन्होंने दावा किया, ‘‘मैं फ्रांस के राष्ट्रपति से स्वयं मिला था. उन्होंने मुझे बताया कि राफेल विमान सौदे को लेकर भारत और फ्रांस की सरकार के बीच गोपनीयता का कोई समझौता नहीं हुआ है.’’ कांग्रेस अध्यक्ष ने सवाल किया कि प्रधानमंत्री को इसका जवाब देना चाहिए कि राफेल सौदे के प्रारूप को अचानक से क्यों बदला गया और हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड से कांट्रैक्ट लेकर उस उद्योगपति को क्यों दिया गया जिस पर 35 हजार करोड़ रुपये का कर्ज है.

जानिए कौन हैं अविश्वास प्रस्ताव पर सरकार की ओर से सबसे पहले बोलने वाले राकेश सिंह

राहुल के भाषण में पीएम पर हमले का सत्तारूढ़ दल के सदस्यों ने जमकर विरोध किया. भाषण के दौरान एनडीए के सदस्यों ने शोर-शराबा किया. इसके चलते सदन की कार्यवाही थोड़ी देर के लिए स्थगित करनी पड़ी. कार्यवाही दोबारा शुरू होने पर राहुल ने कहा कि बीजेपी के लोग भी जानते हैं कि मैं सच बोल रहा हूं. उन्होंने मुझे भाषण के लिए बधाई दी. राहुल ने आगे कहा कि आपके मन में मेरे लिए गुस्सा है, आपके लिए मैं पप्पू हो सकता हूं, लेकिन मेरे मन में आपके लिए नफरत नहीं है.